तलाक के बाद पत्नी को दिया झांसा मुख्तियारनामा बनाकर बेच दी जमीन

अपराध: हाईकोर्ट के आदेश पर सिविल लाइन में मामला दर्ज

By: Amil Shrivas

Published: 20 Jul 2018, 04:26 PM IST

बिलासपुर. तलाक के बाद पत्नी को भरण-पोषण खर्च देने का झांसा देकर रेलवे इंजीनियर पूर्व पति ने 81 डिसमिल जमीन का मुख्तियारनामा बनवाया और जमीन दूसरे को बेच दी। हाईकोर्ट के आदेश पर पुलिस ने आरोपी रेलवे इंजीनियर के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। सिविल लाइन पुलिस के अनुसार, आरके नगर निवासी सपना पिता राधिका प्रसाद श्रीवास्तव (42) का विवाह रायपुर निवासी व रेलवे इंजीनियर रमाकांत श्रीवास्तव पिता शंकरप्रसाद श्रीवास्तव (42) से हुआ था। किसी बात को लेकर उनमें अनबन रही, जिससे तलाक का मामला शहडोल स्थित कुटुम्ब न्यायालय पहुंचा। 1 नवंबर 2012 को उनका तलाक हो गया। रमाकांत ने राधिका को एकमुश्त भरण पोषण की राशि 10 लाख रुपए देने की बात कही थी। इसके लिए उसने सपना से लिखित एग्रीमेंट करने की बात कही। सपना उसकी बातों में आकर एग्रीमेंट के लिए राजी हो गई। 4 दिसंबर 2012 को रमाकांत उसे बिलासपुर स्थित रजिस्ट्री कार्यालय ले गया। वहां उसने सपना के नाम पर दर्ज सिरगिट्टी अंतर्गत ग्राम महमंद की 81 डिसमिल जमीन का मुख्तियार नामा अपने नाम पर बनवा लिया। मुख्तियारनामा में उसने खुद को सपना का पति बताया। इसके बाद रमाकांत ने सपना की जमीन 3 अलग-अलग व्यक्तियों को बेच दी। सपना ने जमीन के मालिकाना हक की जानकारी निकलवाई तो उसे पता चला कि रमाकांत ने धोखा देकर उससे एग्रीमेंट के बहाने मुख्तियारनामा में बनवाया था। उसने भरण पोषण की रकम 10 लाख रुपए का भी भुगतान नहीं किया। सपना ने इसकी शिकायत पुलिस से की। कार्रवाई न होने पर हाईकोर्ट में याचिका दायर की। कोर्ट ने आरोपी रमाकांत के खिलाफ अपराध दर्ज करने का आदेश दिया था। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है।

Prev Page 1 of 2 Next
Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned