दक्षिण पश्चिम मानसून बंगाल की खाड़ी के दक्षिण तक बढ़ा, फिर भी बढ़ेगा तापमान

Chhattisgarh Weather Forecast: छत्तीसगढ़ के चारों ओर द्रोणिका और चक्रीय चक्रवात का प्रभाव है, इसके बाद भी मौसम विभाग ने प्रदेश के तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना व्यक्ति की है।

By: Ashish Gupta

Published: 23 May 2021, 06:42 PM IST

बिलासपुर. दक्षिण पश्चिम मानसून (Southwest monsoon) बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिम के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ गया है। बंगाल के दक्षिण पूर्व खाड़ी के अधिकांश भाग और बंगाल की पूर्वी मध्य खाड़ी के कुछ हिस्से और पूरे अंडमान और अंडमान निकोबार द्वीप समूह तक पहुंच गया है। इधर, छत्तीसगढ़ में 10 जून तक मानसून के पहुंचने की संभावना है। प्रदेश के चारों ओर द्रोणिका और चक्रीय चक्रवात का प्रभाव है, इसके बाद भी मौसम विभाग ने प्रदेश के तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना व्यक्ति की है।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना का दूसरा पीक गुजरा, मरीज हुए कम लेकिन मौतें बढ़ा रही चिंता

मौसम वैज्ञानिक एके दास ने बताया कि एक द्रोणिका हिमालय पश्चिम बंगाल से तटीय उड़ीसा तक झारखंड होते हुए 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा मराठवाड़ा और उसके आसपास 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। प्रदेश में कल दिनांक 23 मई को एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा (Light Rain) होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: ब्लैक फंगस के बाद अब व्हाइट फंगस का खतरा, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट, जानें लक्षण और बचाव

प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात होने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में वृद्धि संभावित है। वहीं शनिवार को प्रदेश में बिलासपुर दूसरा सबसे गर्म शहर रहा। यहां अधिकत तापमान 39.6 और न्यूनतम 25.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं दुर्ग में अधिकतम तापमान 40.5, रायपुर में 39.2 और राजनांदगांव में 39 .0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned