प्रताडऩा एवं निजीकरण के खिलाफ धरना, आंदोलन एवं सभा आयोजित किए गए

नेहरू चौक पर एचआईवी पीडि़तों को प्रताडि़त करने के विरोध में नेहरू चौक पर धरना दिया गया। कोविड 19 अस्पतालों में अव्यवस्थाओं के विरोध में सामाजिक कार्यकर्ता का धरना आंदोलन पांचवें दिन जारी रहा।

By: Karunakant Chaubey

Published: 18 Sep 2020, 03:49 PM IST

बिलासपुर. सरकारी संस्थानों और सार्वजनिक उपक्रमों के निजीकरण के खिलाफ गुरुवार को संयुक्त मोर्चा की तरफ से धरना व आमसभा का आयोजन किया गया। नेहरू चौक पर एचआईवी पीडि़तों को प्रताडि़त करने के विरोध में नेहरू चौक पर धरना दिया गया। कोविड 19 अस्पतालों में अव्यवस्थाओं के विरोध में सामाजिक कार्यकर्ता का धरना आंदोलन पांचवें दिन जारी रहा।

देश के सरकारी प्रतिष्ठानों और सार्वजनिक उपक्रमों को निजीकरण के विरोध में गुरुवार को जिले के संयुक्त मोर्चा की तरफ से केंद्र सरकार के खिलाफ देवकीनंदन चौक पर धरना सभा का आयोजन किया गया। इस सभा को टे्रड यूनियन कौंसिल के अध्यक्ष पीआर यादव, बीमा यूनियन के राजेश शर्मा, कांगे्रस के प्रदेश प्रवक्ता अभयनारायण राय, शिवा मिश्रा , राकेश शर्मा, रवि बनर्जी, नंद कश्यप, शौकत अली, पवन शर्मा, अशोक सिहोरे, प्रियंका शुक्ला, नीलोत्पल शुक्ला, नागेश्वर राव, लल्लन सिंह, आसिफ खान आदि ने संबोधित करते हुए निजीकरण की खिलाफत की।

प्रताडऩा के विरोध में धरना

एचआईवी पीडि़त बच्चियों को जबरिया निकालने और महिला एवं बाल विकास विभाग, पुलिस की ज्यादतियों के खिलाफ में नेहरू चौक पर धरना दिया गया। सभा को लखन सुबोध, नंद कश्यप, वाहिद खान, सरस्वती बाई, पूजा, अधिवक्ता प्रियंका शुक्ला आदि ने संबोधित किया। महिला एवं बाल विकास व पुलिस के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर कलेक्टर के नाम एसडीएम देवेंद्र पटेल को ज्ञापन सौंपा गया। इसमें प्रताडि़त बच्चों के परिजन भी शामिल हुए।

पांचवां दिन धरना जारी रहा

एससीएसटीओबीस महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष श्याममूरत कौशिक का कोविड़ १९ अस्पतालों में अव्यवस्था समेत सात सूत्रीय मांगों को लेकर गुरुवार को पांचवें दिन भी नेहरू चौक पर धरना आंदोलन जारी रहा। धरना आंदोलन को अनेक स्वयंसेवी संस्थाओं ने समर्थन किया।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned