शिक्षकों पर है नई पीढ़ी के निर्माण की जिम्मेदारी अपने दायित्वों को ईमानदारी से करें पूरा- डॉ.रमन

शिक्षकों पर है नई पीढ़ी के निर्माण की जिम्मेदारी अपने दायित्वों को ईमानदारी से करें पूरा- डॉ.रमन

Anil Kumar Srivas | Publish: Sep, 06 2018 04:15:13 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

शिक्षकों का सम्मान समारोह: तिफरा के झूलेलाल मंगलम में मुख्यमंत्री रमन सिंह ने किया 17 शिक्षकों का सम्मान

बिलासपुर . मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि राज्य के शिक्षाकर्मियों और उनके परिवार को सम्मान से जीने का अवसर दिया है। राज्य सरकार ने शिक्षाकर्मियों के लिए ऐतिहासिक निर्णय लेकर उनकी समस्या का समाधान किया है। नई पीढ़ी के भविष्य निर्माण में शिक्षकों का विशेष दायित्व रहता है।

डॉ. सिंह शिक्षक दिवस के अवसर पर बुधवार को तिफरा में झूलेलाल मंगलम में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे। उन्होंने शिक्षक सम्मान समारोह में जिले के 17 शिक्षकों का शाल एवं श्रीफल भेंटकर सम्मान किया। मुख्यमंत्री ने पूर्व राष्ट्रपति, शिक्षाविद सर्वपल्ली डॉ. राधा कृष्णन के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने कहा, 5 सितंबर शिक्षक दिवस शुभ दिन होता है। इस शुभ दिन पर डोंगरगढ़ में मां बम्बलेश्वरी के दर्शन से विकास यात्रा के दूसरे चरण की शुरुआत हुई। इस शुभ दिन पर गुरु वशिष्ठ से लेकर चाणक्य और समारोह में उपस्थित सभी शिक्षकों का नमन करता हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि नई पीढ़ी के निर्माण की महती जिम्मेदारी शिक्षकों पर होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज मे हर व्यक्ति की जिम्मेदारी होती है। शिक्षक अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन पूरी ईमानदारी से करते हैं तभी समाज आगे बढ़ता है। नई पीढ़ी को संस्कार मिलते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा एक लाख से अधिक शिक्षाकर्मियों का संविलियन हो गया। शेष शिक्षाकर्मियों का भी संविलियन भविष्य में हो जाएगा।

सेंट्रल सिंधी पंचायत ने 2.51 लाख का चेक सौंपा
शिक्षक सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को पूज्य सेंट्रल सिंधी पंचायत बिलासपुर द्वारा केरल के बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए 2 लाख 51 हजार रुपए का चेक सौंपा गया।

इनका हुआ सम्मान
मोहन प्रसाद चंद्रा, जय कुमार कौशिक, अंजुलता भास्कर, प्रतिभा पांडेय, गेंदा प्रसाद उपाध्याय, दिनेश कुमार राजपूत, सलामुद्दीन सहायक, नारायण सिंह, शिखा जायसवाल, रितेश कुमार, हरशरण सिंह नहरेल, आर डी प्रताप सिंह, समार सिंह कोराम, अजय कुमार चौधरी, रजनी गंधा बर्मन, मुकुल शर्मा और संगम शुक्ल।

ये उपस्थित रहे
शिक्षक सम्मान समारोह में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, सांसद लखन लाल साहू, मंत्री अमर अग्रवाल, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री तथा जिले के प्रभारी अजय चंद्राकर, संसदीय सचिव राजू क्षत्रिय, छत्तीसगढ़ हाउसिंग बोर्ड के अध्यक्ष भूपेंद्र सवन्नी, छत्तीसगढ़ महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि संभाग के कमिश्नर टीसी महावर तथा कलेक्टर पी. दयानंद उपस्थित थे।

सेंट्रल यूनिवर्सिटी में भाषण प्रतियोगिता
गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय में शिक्षक दिवस पर रजत जयंती सभागार में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। अधिष्ठाता छात्र कल्याण कार्यालय द्वारा आयोजित भाषण एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक विरासत का अनूठापन विषय पर छात्रों ने अपने ओजस्वी भाषणों से छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक विरासत की जानकारी दी। प्रतियोगिता के जज के तौर पर प्रोफेसर एम.के. सिंह, डॉ. के.के. चन्द्रा एवं डॉ. राजेन्द्र मेहता रहे। भाषण प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार ग्रामीण प्रौद्योगिकी विभाग के बी.एस.सी तृतीय सेमेस्टर के शुभम पाठक, द्वितीय पुरस्कार विधि विभाग बी.ए.एल.एल.बी. पंचम सेमेस्टर और अंशुमान दुबे तथा तृतीय पुरस्कार सबा शाहीन, पंचम सेमेस्टर भौतिकी विभाग को दिया गया।

गुरु तेग बहादुर स्कूल
गुरु तेग बहादुर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय 27 खोली विकास नगर में सर्वपल्ली डॉ. राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर शिक्षक दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सर्व प्रथम मां सरस्वती और डॉ. राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यार्पण कर पूजा-अर्चना की गई। स्कूली बच्चों ने शिक्षकों को पुष्प गुच्छ भेंट किए और सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं।

गुरु तेग बहादुर शिक्षण समिति ने भी बच्चों को उपहार दिए।
शिक्षण समिति के अध्यक्ष अजीत सिंह भोगल ने कहा कि शिक्षक जीवन भर छात्रों को ज्ञान बांटते हैं। उन्हें बुलंदियों तक पहुंचाते हैं। सफल छात्रों के पीछे हमेशा उसके शिक्षक ही होते हैं। इस मौके पर विद्यालय सचिव त्रिलोचन सिंह बैंस ने भी संबोधित किया। प्राचार्य सुलेखा सिंह ने आभार माना और शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं दीं।

सरस्वती शिशु मंदिर
तिलकनगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी उत्सव और शिक्षक दिवस का कार्यक्रम संपन्न हुआ। मुख्य अतिथि सत्येंद्र सिंह थे। गौरीशंकर मिश्रा द्वारा भगवान कृष्ण के मनमोहक रूप का वर्णन किया गया। कार्यक्रम का संचालन किशोर भारती के अध्यक्ष कौशल श्रीवास और उपाध्यक्ष संगीता श्रीवास ने किया। प्राचार्य राकेश पांडेय ने शिक्षकों को शिक्षक दिवस की बधाई दी और आभार प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में सीमा दुबे, विनीता पांडेय मौजूद थीं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned