आधी रात को खत्म हुआ आक्सीजन 10 मरीजों की जा सकती थी जान, कलेक्टर ने घटना की जानकारी स्वास्थ्य मंत्री को दी

संभागीय कोविड अस्पताल में 12 मरीजोंं को आक्सीजन दिया जा रहा है। इसमें से चार वेंटिलेटर पर हैं। जिन्हे हर टाइम आक्सीजन की जरुरत पड़ती है। रात्रि एक बजे के बाद पता चला कि आक्सीजन खत्म हो गई है ,जिसकी जानकारी अस्पताल के आरएमओ मनोज जायसवाल हुई उन्होने सूचना मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर प्रमोद महाजन को दिया।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 26 Aug 2020, 11:29 AM IST

बिलासपुर. संभागीय कोविड अस्पताल में अचानक रात्रि एक बजे आक्सीजन खत्म हो गई थी। जिसके कारण १० मरीजों को सांस लेने में दिक्कत होने लगी। आक्सीजन खत्म होने की जानकारी कोविड अस्पताल सीएमएचओ को दिया गया। आनन फानन में सीएमएओ द्वारा सिम्स से आक्सीजन सिलेंडर कोविड अस्पताल को उपलब्ध कराया गया। बताया जाता है समय पर आक्सीजन सिलेंडर नहीं मिलता तो यहां भर्ती मरीजों की जान भी जा सकती थी। इस मामले में कलेक्टर सारांश मित्तर का कहना घटना की जानकारी स्वास्थ्य मंत्री को दे दी गई है।

संभागीय कोविड अस्पताल में 12 मरीजोंं को आक्सीजन दिया जा रहा है। इसमें से चार वेंटिलेटर पर हैं। जिन्हे हर टाइम आक्सीजन की जरुरत पड़ती है। रात्रि एक बजे के बाद पता चला कि आक्सीजन खत्म हो गई है ,जिसकी जानकारी अस्पताल के आरएमओ मनोज जायसवाल हुई उन्होने सूचना मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर प्रमोद महाजन को दिया। जिसके बाद सक्रियता दिखाते हुए सीएमएचओ ने सिम्स के पीआरओ डॉक्टर आरती पांडे से सम्पर्क कोविड अस्पताल को 10 ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराया गया । बताया जाता है आक्सीजन की व्यवस्था करने के लिए कोरोना कार्यक्रम प्रभारी विजय सिंह, शैफाली कुमावत डॉ.मनोज

-जायसवाल सीएमएचओ और डाक्टर आरती पाण्डेय

विजय सिंह द्वारा रात्रि तीन बजे मरीजों को आक्सीजन देने के बाद घर वापस लौटे। बताया जाता है डाक्टरों ने कलेक्टर को बताया घटना के दौरान सिविल सर्जन को अनेकों बार फोन किया गया लेकिन वे फोन रिसीव नहीं की। सिविल सर्जन को कलेक्टर ने फटकार भी लगाई है।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned