पुरातन नगरी और मां महामाया की नगरी रतनपुर बनेगी तहसील

पुरातन नगरी और मां महामाया की नगरी रतनपुर बनेगी तहसील
पुरातन नगरी और मां महामाया की नगरी रतनपुर बनेगी तहसील

Murari Soni | Updated: 18 Sep 2019, 05:55:19 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

मुख्यमंत्री ने जन चौपाल में रतनपुर से आए नागरिकों के प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के दौरान यह घोषणा की।

बिलासपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास में आयोजित जन चौपाल, भेंट मुलाकात कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के प्रमुख तीर्थ स्थल, पुरातन नगरी और मां महामाया की नगरी रतनपुर को तहसील का दर्जा देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने जन चौपाल में रतनपुर से आए नागरिकों के प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के दौरान यह घोषणा की। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को बताया कि 15 सालों से वे लोग रतनपुर को तहसील का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं।

आसपास की 49 ग्राम पंचायतों ने भी इसके लिए सहमति दी है। रतनपुर से बिलासपुर लगभग लगभग 25 किलोमीटर और कोटा 18 किलोमीटर दूर है। रतनपुर में तहसील कार्यालय प्रारम्भ होने से नगरवासियों को काफी सहूलियत होगी। रतनपुर की जनसंख्या लगभग पच्चीस हजार है।

पुराने समय में भी रतनपुर अनेक अवसरों पर राजवंशों की राजधानी रही है। इस अवसर पर रतनपुर नगर पालिका अध्यक्ष सुश्री आशा सूर्यवंशी सहित शिवा पांडे, डॉ राजू श्रीवास, अभिषेक मिश्रा, पुष्पकांत, प्रबोध आनंद पांडे सहित अनेक नागरिक उपस्थित थे। नागरिकों ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट करते हुए करतल ध्वनि से मुख्यमंत्री की घोषणा का स्वागत किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned