बिलासपुर. दिव्यांग बच्चों के इतना शानदार परफॉर्मेंस, कॉफिडेंस लेवल, स्माइल और इनकी हिम्मत देख कर आज मैं भी इन बच्चों से सीख कर जा रहा हूं कि हर परिस्थिति में इंसान को अपना बेस्ट से बेस्ट वर्क करना चाहिए। किसी भी परिस्थिति में परेशान होने के बजाए, जीवन को हंसकर मुस्कुरा कर जीने का प्रयास करना चाहिए। अगर यह कहे कि यह बच्चे दिव्यांग नहीं बल्कि रियल स्टार हैं तो कोई गलत नहीं होगा। यह बातें बुधवार को एसपी अभिषेक मीणा ने ३६ मॉल मंगला में आयोजित कार्यक्रम में कही। सामाजिक संस्था टीम फाउंडेशन की ओर से दिव्यांग बच्चों के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें बच्चों ने एक से बढ़ कर एक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी।
रैम्प वॉक, डांस का कार्यक्रम बच्चों ने किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एसपी अभिषेक मीणा रहे। उन्होंने दिव्यांग बच्चों की खूब सराहना की। उन्होंने इन बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की और सामाजिक संस्था टीम फाउंडेशन के सदस्यों को धन्यवाद करते हुए एेसे कार्यक्रम के लिए सराहना की। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डिप्टी कलेक्टर आशुतोष चतुर्वेदी ने कहा कि बच्चों का शानदार डांस, रैंप वॉक समेत अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम देख कर बिल्कुल भी नहीं लगता की ये दिव्यांग हैं, बल्कि अगर यह कहें कि यह बच्चे हमें जीवन जीने की कला सिखा रहे हैं तो गलत ना होगा। छत्तीसगढ़ी फिल्म के अभिनेता अखिलेश पांडेय ने कहा कि एेसे कार्यक्रम का आयोजन होना चाहिए इससे बच्चों को प्रतिभा का प्रदर्शन करने का अवसर मिलता है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned