Bilaspur Corona Update: अगस्त के 22 दिनों में 545 संक्रमित, 10 लोगों की कोरोना से मौत

जुलाई के बाद अगस्त में भी कोरोना संक्रमण (Bilaspur Corona Update) बढ़ते जा रहा है। इस महीने के 22 दिन में ही 545 लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं। वहीं इन 22 दिनों में 10 मरीजों की कोरोना से मौत भी हो चुकी है।

By: Ashish Gupta

Updated: 23 Aug 2020, 05:42 PM IST

बिलासपुर. जुलाई के बाद अगस्त में भी कोरोना संक्रमण (Bilaspur Corona Update) बढ़ते जा रहा है। इस महीने के 22 दिन में ही 545 लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं। वहीं इन 22 दिनों में 10 मरीजों की कोरोना से मौत भी हो चुकी है। इसके बाद भी न तो स्वास्थ्य विभाग इससे निपटने के लिए कोई प्रयास कर रहा है न ही लोग कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी किए गए आदेश का पालन कर रहे हैं।

जिले में कोरोना वायरस ने अब रफ्तार पकड़ना शुरू कर दिया है। बिलासपुर जिले में पहला मामला 26 मार्च को सकरी क्षेत्र में आया था जिसके बाद प्रवासी मजदूरों के आने से जिले में मरीजों का आंकड़ा बढ़ता गया। मार्च के बाद अप्रैल, मई, जून और जुलाई के इन चार माह में जिले में कुल 672 कोरोना के मरीज मिले थे लेकिन अगस्त माह के मात्र 22 दिन में ही 545 मरीज मिल गए हैं।

इस आंकड़े के मुताबिक जितना मरीज पिछले चार माह में मिले हैं उतना अगस्त में मिल रहे हैं। इसके साथ ही जिले में कोरोना से पहली मौत 30 मई को मस्तूरी के डगनिया निवासी 9 साल की बच्ची की हुई थी जिसके बाद जून में 2 और जुलाई में 2 मौत हुई थी लेकिन अगस्त के इन 22 दिनों के भीतर ही 10 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। ऐसे में जानकारों का कहना है कि लोग अब संक्रमण को लेकर सावधानी नहीं दिखा रहे हैं जिसके कारण मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। आने वाले दिनों में संक्रमण की गति और बढ़ने की बात भी जानकार कह रहे हैं। वहीं मौत के आंकड़ों में भी वृद्धि होने की भी आशंका जताई जा रही है।

न कंटेनमेंट जोन न बेरिकेटिंग
कोरोना संक्रमण को लेकर एक तरह आम जनता ने सावधानी बरतनी छोड़ दी है। और बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नजर आ रही है। तो वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन भी इसके रोकथाम में लापरवाही बरत रही है। कोरोना पॉजिटीव आने वाले लोगों के घर के आस पास न तो कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है और न ही बेरिकेटिंग हो रही है। जिसके चलते आस पास के लोगो को मरीजों के बारे में जानकारी ही नहीं मिल रही है। और वो अंजाने में ही संपर्क में आने वालो से मिल रहें है। और कोरोना वायरस के चपेट में आ रहें है। वहीं विभाग ने अब जांच में भी कमी कर दी है। जिसके चलते देर से मरीज मिल रहें है।

कोरोना से इन्हें ज्यादा खतरा
ड्ब्लूएचओ के अनुसार कोरोना संक्रमण से बुजुर्गों में मौत के आंकड़े ज्यादा देखने को मिल रहे हैं। वहीं जानकार बताते है कि बुजुर्गों के अलावा वैसे लोग जिन्हें पहले से किसी तरह की कोई बीमारी है या फिर वैसे लोग जो लंबे समय से बीमार हैं उनमें भी इस बीमारी या इंफेक्शन होने का खतरा अधिक है। कैंसर, ह्दय रोगी, बीपी शुगर और अस्थमा के मरीजों को भी इंफेक्शन होने का खतरा अधिक है।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned