ट्रेन में चढ़ते ही आरपीएफ इंस्पेक्टर के साथ हुआ यह दर्दनाक हादसा

पांडेय छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की वातानुकूलित बोगी में सफर करना चाहते थे। लेकिन बोगी नहीं खुली तो अधीनस्थ स्टाफ ने उन्हें स्लीपर कोच में बैठा दिया

By: Amil Shrivas

Published: 22 Aug 2017, 01:21 PM IST

बिलासपुर. रेलवे सुरक्षा बल चांपा थाने के इंस्पेक्टर एके पांडेय सोमवार को उरगा स्टेशन में दुर्घटना में घायल हो गए। ट्रेन पर चढऩे की जल्दबाजी में उनके दोनों पैर ट्रैक पर कट गए। उन्हें गंभीर हालत में कोरबा के ट्रामा अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत नाजुक बताई गई है।  सोमवार को चांपा रेलवे सुरक्षा बल थाना के प्रभारी एके पांडेय कोरबा प्रवास पर थे। पांडे ने कोरबा रेलवे सुरक्षा बल की चौकी में सिपाही, हवलदार व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक की। 10.35 बजे छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस कम पैसेंजर से चांपा के लिए रवाना हुए। पांडेय छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की वातानुकूलित बोगी में सफर करना चाहते थे। लेकिन बोगी नहीं खुली तो अधीनस्थ स्टाफ ने उन्हें स्लीपर कोच में बैठा दिया। 10 मिनट के बाद ट्रेन उरगा स्टेशन पहुंची। पांडेय स्लीपर कोच से उतर गए। एसी कोच को खुलवाने की कोशिश करने लगे। लेकिन रेलवे के स्टाफ ने एसी कोच का दरवाजा नहीं खोला।

इस बीच ग्रीन सिग्नल हो गया। पायलट ने गाड़ी आगे बढ़ा दी। ट्रेन रफ्तार पकडऩे लगी थी। इंस्पेक्टर पांडेय ने स्लीपर के दरवाजे पर लगे हैंडल को पकड़कर ट्रेन में चढऩे की कोशिश की। इस बीच संतुलन बिगड़ गया और वे नीचे गिर गए। दोनों पैर ट्रैक पर पड़े। ट्रेन के पहिए से दोनों पैर कटकर अलग हो गए। हादसे की सूचना पर लोको पायलट ने गाड़ी रोक दी। घायल इंस्पेक्टर को स्टे्रचर पर उठाकर एम्बुलेंस से कोरबा के ट्रामा अस्पताल पहुंचाया गया। यहां पहुंचने तक शरीर से काफी खून बह गया। अस्पताल में पांडेय का इलाज जारी है। उनकी हालत गंभीर बताई गई है। अस्पताल के डॉक्टर शतदल नाथ ने बताया कि हादसे में इंस्पेक्टर पांडेय का दाहिना पैर घुटने के पास से जख्मी हुआ है। पैर की हड्डी बाहर निकल आई है। बांएं पैर को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

स्टेशन पर नहीं है प्लेटफार्म : आरपीएफ की कोरबा चौकी चांपा थाने के अधीन है। चांपा से ही कोरबा चौकी की निगरानी होती है। इंस्पेक्टर एके पांडेय सोमवार को कोरबा प्रवास पर आए थे। यहां से छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में बैठकर चांपा लौट रहे थे। उरगा स्टेशन पर निरीक्षण के लिए उतरे। दोबारा चढऩे की कोशिश में हादसे में घायल हो गए। यहां स्टेशन पर प्लेटफार्म नहीं है। इस वजह से हादसा हुआ।
-आरके सिंह, प्रभारी, आरपीएफ चौकी कोरबा।

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned