पुस्तकालय या शिक्षा के नाम पर कैसे हो रही मनमानी, इस शोध या रिसर्च ने खोल दी पोल

Unique research: शोध कार्य सन् 1991 से 2001 तक की अवधि में तत्कालीन (अविभाजित) मध्यप्रदेश के पुस्तकालयों का अध्ययन किया गया।

 

बिलासपुर। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय (केन्द्रीय विश्वविद्यालय) की कला विद्यापीठ के अंतर्गत पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग में मध्यप्रदेश विश्श्वविद्यालय पुस्तकालयों में संग्रह विकास नीति और प्रक्रिया पर शोध किया गया है। शोधार्थी डॉ. एस.आर. बघेल ने इस विषय का अध्ययन किया है। उनके शोध निर्देशक डॉ. ब्रजेश तिवारी, सह-प्राध्यापक एवं विभागाध्यक्ष पुस्तकालय विज्ञान विभाग हैं। उन्हें सन् 2005 में पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई।
उक्त शोध का शीर्षक ''कलेक्शन डेवलपमेंट पालिसी एण्ड प्रोसीजर इन एमपी यूनिवर्सिटीज लाइब्रेरी''(''मध्यप्रदेश विश्वविद्यालय पुस्तकालयों में संग्रह विकास नीति और प्रक्रिया'') है। इस शोध का केन्द्र बिंदू मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालयों में संग्रह विकास नीति और प्रक्रिया है। इस अध्ययन का उद्देश्य मांग के अनुरूप संग्रह सामग्री का पर्याप्त विकास सुनिश्चित करने के लिए कार्यक्रम बनाया जाना है। यह शोध कार्य सन् 1991 से 2001 तक की अवधि में तत्कालीन (अविभाजित) मध्यप्रदेश के पुस्तकालयों का अध्ययन किया गया। उस समय ज्ञान एवं इलेक्ट्रानिक सामग्री के विकास के संदर्भ में मध्यप्रदेश के पुस्तकालयों की स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी। विश्वविद्यालय पुस्तकों की इस स्थिति का कारण वित्त का अभाव एवं सूचना प्रौद्योगिकी के प्रति जागरूकता की कमी है।
शोध अध्ययन के अनुसार उस समय सभी विश्वविद्यालय पुस्तकालयों में न तो पर्याप्त पठन सामग्री थी, न ही तकनीकी कर्मचारी। पर्याप्त धनराशि का अभाव भी था। अधिकांश पुस्तकालयों मे ग्रंथपाल के पद रिक्त थे। इससे स्पष्ट है कि विश्वविद्यालय पुस्तकालयों को और अधिक समृद्व और प्रभावी बनाने के लिए बहुत ज्यादा प्रयास की जरूरत है। शोधकर्ता डॉ. एस.आर. बघेल, वर्तमान में रानी दुर्गावती शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मंडला (म.प्र.) में ग्रंथपाल पद पर कार्यरत हैं।

JYANT KUMAR SINGH
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned