scriptVishnubhog rice: With GI tagging, the gates of Arab countries will ope | विष्णुभोग चावल: जीआई टैगिंग के साथ ही खुल जाएंगे अरब देशों के द्वार | Patrika News

विष्णुभोग चावल: जीआई टैगिंग के साथ ही खुल जाएंगे अरब देशों के द्वार

  • तीन माह पहले हैदराबाद में किसान ने किया आवेदन
  • पुराने बिलासपुर जिले का प्रमुख और विशिष्ट चावल

बिलासपुर

Published: July 28, 2022 10:43:40 pm

बिलासपुर. पुराना बिलासपुर जिला यानि जांजगीर, मुंगेली, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही का विष्णुभोग चावल अरब देशों में काफी लोकप्रिय है। कुछ वर्ष पूर्व रायपुर सहित देश के अन्य कृषि एक्सपो में अरब के व्यापारियों ने इसमें अपनी रुझान दिखाई थी और फिर एक हजार टन का ऑर्डर भी किया था। लेकिन निरंतर सप्लाई की राह में जीआई यानि ज्योग्राफिकल इंडिकेशन टैगिंग बड़ी बाधा बनकर सामने आई। ऐसे में मस्तूरी ब्लॉक के रिसदा के किसान राघवेंद्र सिंह ने विष्णुभोग चावल के जीआई टैगिंग के लिए हैदराबाद में आवेदन लगा दिया है। तीन माह हो चुके हैं अभी तक कोई आपत्ति नहीं आई है, अमूमन जीआई टैगिंग में एक वर्ष का समय लग जाता है।
vishnubhog rice
पुराना बिलासपुर जिला यानि जांजगीर, मुंगेली, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही का विष्णुभोग चावल अरब देशों में काफी लोकप्रिय है।
अब तक दो चावल जीआई टैग्ड
अभी तक की बात करें तो छत्तीसगढ़ के दो चावल दूबराज और जवाफूल को जीआई टैगिंग मिल चुकी है। दूबराज धमतरी के नगरी सिंहावा और जवाफूल लैलूंगा रायगढ़ का है। वहीं अब तीसरे नंबर पर बिलासपुर के विष्णुभोग को जीआई टैगिंग के लिए लगाया गया है।

खुशबू और साफ्टनेस है खासियत
विष्णुभोग चावल की खासियत यह है कि इसमें हल्की सुगंध होती है साथ ही ये काफी मुलायम होता है। कमॢशयल फार्मेट यानि रासायनिक में उगाया गया चावल बाजार में ६० से ८० रुपए किलो बिकता है जबकि आर्गेनिक फार्मेट में उत्पादित चावल १००-१२० रुपए किलो तक बिकता है।

क्या होगा फायदा
किसान राधवेंद्र सिंह ने बताया कि इस चावल में जीआई टैग लगने के बाद इस चावल की पहचान, खासियत व गुणधर्म फिक्स हो जाएगा। राज्य में तो ये आसानी से बिक जाता है पर अन्य राज्यों में बिना जीआई टैग के बेचने में इसको वो महत्व नहीं मिल पाता जिसका ये चावल हकदार है। वहीं विदेश भेजने में तो और भी दिक्कत आती है। जीआई टैग के बाद विदेश भेजना आसान होजाएगा। इसकी मांग अरब देशों में काफी है ऐसे में इसकी कीमत भी अच्छी मिल जाएगी।
वर्जन
विष्णुभोग चावल हमारे पुराने बिलासपुर की पहचान है। इसके जीआई टैगिंग के लिए आवेदन किया गया है। जीआई टैगिंग मिलते ही बिलासपुर का विष्णुभोग देश ही नहीं विदेश में भी खास होगा।
राधवेंद्र सिंह, किसान बीज सहकारी समिति, रिसदा
एक्सपर्ट व्यू
जीआई टैग मिलने के बाद इसकी आइडेंटिटी बन जाती है, इसकी वैल्यू बढ़ जाती है। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के कृषि वैज्ञानिक दीपक शर्मा के माध्यम से जीआई टैगिंग के लिए आवेदन किया गया है। इस टैगिंग के मिलते ही निर्यात में यहां के चावल को प्राथमिकता मिलेगी। एक प्रकार से मार्केटिंग पर एकाधिकार रहेगा यह किसानों के लिए फायदेमंद होगा।
आरके तिवारी, डीन, कृषि विश्वविद्यालय, बिलाससपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra News: महाराष्ट्र के रायगढ़ में संदिग्ध नाव मिलने से हडकंप, AK 47 सहित कई हथियार हुए बरामदपश्चिम बंगाल में STF को मिली बड़ी सफलता, अल-कायदा से जुड़े दो आतंकवादियों को किया गिरफ्तारBJP में शामिल होंगे JDU के पूर्व अध्यक्ष RCP सिंह, नीतीश के बारे में कहा- 7 जन्म में नहीं बन सकेंगे प्रधानमंत्रीराजू श्रीवास्तव की हालत नाजुक, ब्रेन हुआ डेड, दिल नहीं कर रहा काम, शुरू कराया गया महामृत्युंजय जापअशोक गहलोत ने गुजरात सरकार पर साधा निशाना, प्रदेश के विकास मॉडल को बताया खोखलाJammu Kashmir: बाहरी लोगों को वोट के अधिकार देने पर भड़के कश्मीरी नेता, मुफ्ती और उमर ने केंद्र पर साधा निशानाGujarat Assembly Elections: AAP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट, जानें किसे कहां से मिला टिकट?शुभेंदु अधिकारी का दावा, दिसंबर तक टूट जाएगी TMC, बंगाल में दोहराया जाएगा महाराष्ट्र!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.