पत्नी ने किया खुद को कमरे में बंद पुलिस ने दरवाजा तोड़कर निकाला

पत्नी ने किया खुद को कमरे में बंद पुलिस ने दरवाजा तोड़कर निकाला

Anil Kumar Srivas | Publish: Mar, 14 2018 01:44:37 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

आवाज लगाने से दरवाजा नहीं खोलने पर महिला पुलिस पीछे का दरवाजा तोड़कर घर में दाखिल हुई।

बिलासपुर . पति के वियोग में एक महिला ने दो दिन से खुद को कमरे में बंद कर लिया था। उससे मिलने मां उसके ससुराल पहुंची तो पड़ोसियों से पता चला कि उन्होंने दो दिन से उसकी बेटी को नहीं देखा। अनिष्ठ की आशंका पर मां ने पड़ोसियों से पुलिस का नंबर लेकर कॉल किया। महिला रक्षा टीम तत्काल मौके पर पहुंची। आवाज लगाने से दरवाजा नहीं खोलने पर महिला पुलिस पीछे का दरवाजा तोड़कर घर में दाखिल हुई। महिला घर के भीतर बेहोशी की हालत में जमीन पर पड़ी मिली। उसे इलाज के लिए तत्काल जिला अस्पताल पहुंचाया गया। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र के सुमित्रा विहार मंगला का है। अब महिला की हालत पहले से बेहतर बताई जा रही है। जिला हॉस्पिटल में अपनी बेटी के पास बैठी उसकी मां सुरूज बाई जायसवाल ने बेटी की दुख भरी दास्तां सुनाते हुए बताया कि बेटी वर्षा जायसवाल ने दो साल पहले लोरमी थाने में पुलिस की मौजूदगी में माता-पिता की मर्जी के खिलाफ शादी की थी। रविवार को भतीजे ने बताया की वर्षा ने खुद को अपने घर में बंद कर लिया है। पति सुरेश डडसेना (मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव) उसे छोड़कर एक माह पहले भाग चुका। बेटी का समाचार सुनने के बाद वह मुंगेली पड़ाव पारा से बस पकड़कर सीधे मंगला सुमित्रा विहार पहुंची। बेटी के घर का दरवाजा खटखटाया लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं मिलने पर पड़ोसियों से पूछा।
जिला अस्तपताल में कराया गया है भर्ती : कंट्रोल रूम से महिला हेल्पलाइन में सूचना मिली कि सुमित्रा बिहार महर्षि रोड पर वर्षा जायसवाल पति सुरेश डडसेना उसे एक माह पहले छोड़कर चला गया है। महिला ने खुद को 2 दिन से घर में बंद कर लिया है। रक्षा टीम ने तुरंत मौके पर पहुंचकर मोहल्ले के नागरिकों से बात की। फिर घर के पिछले दरवाजे को तोड़कर महिला को रेस्क्यू कर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।
मेघा टेम्भूरकर, महिला निरूद्ध सेल और रक्षा टीम प्रभारी बिलासपुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned