श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बिलासपुर पहुंचे मजदूरों को दोपहर तक नहीं मिला खाना तो मचाया हंगामा

रविवार को सुबह 9.30 बजे जम्मू-कश्मीर के कटरा-बिलासपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन बिलासपुर ट्रेन बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंची।

By:

Updated: 24 May 2020, 10:02 PM IST

बिलासपुर. रविवार को सुबह 9.30 बजे जम्मू-कश्मीर के कटरा-बिलासपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन बिलासपुर ट्रेन बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंची। स्टेशन में जांच के बाद यात्रियों को प्लेटफॉर्म में बैठाया गया। संबंधित अधिकारी ने श्रमिकों को 2 घंटे में बस आने व क्वारंटाइन सेंटर भेजने की बात कही और चले गए। भुखे प्यासे यात्री दोपहर 2 बजे तक बस आने का इंतजार करते रहे लेकिन बस नहीं आई। श्रमिकों के साथ छोटे छोटे बच्चें थे जो पानी पी पीकर पेट भरने में लगे रहे। भूखे श्रमिकों के सब्र का पैमाना जब छलका तो वह खाने को लेकर हंगामा करने लगे। खाने की मांग कर रहे श्रमिकों को पता चला की जीआरपी पोस्ट के पास एक बाक्स में कुछ खाने के पैकेट रखे हुए है तो सभी पैकेट को छीनने टूट पडे। मालूम हो की खाने के पैकेट को ट्रेन में देने स्टेशन में रखा गया था। लेकिन सिर्फ चावल होने के कारण यात्रियों ने चावल भरे पैकेट को छोड़ कर चले गए थे। भूख से तडफ़़ रहे बच्चें व उनके माता पिता जब खाने के पैकेट पर झपटे तो मानों ऐसा लग रहा था जैसे वह काफी देर से भूखे है। श्रमिक यही कहते रहे की 2 घंटे की बात कह कर गए अधिकारी दो बजे तक लौटे ही नहीं पता करने पर मालूम हुआ की ट्रेनों से पहुंचने वाले श्रमिकों की सुविधा के लिए सीएसपी कोतवाली निमेश बरैया को मस्तूरी एरिया का इंचार्ज बनाया गया है। मस्तूरी क्षेत्र के आने वाले श्रमिको को ट्रेन से उतरने व जांच होने के बाद बस के माध्यम से मस्तूरी क्षेत्र में बने क्वारंटाइन सेंटर भेजने की जवाबदारी दी गई है। श्रमिकों से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि ट्रेन से उतरने के बाद मुंगेली व अन्य ब्लॉक श्रमिकों को उनके घर भेज दिया गया। लेकिन मस्तूरी के हम सभी 45 श्रमिक बस आने व खाने का इंतजार कर रहे है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned