योग से ठीक हो सकता है शुगर, अनियंत्रित BP, मोटापा और हृदय रोग से संबंधित बीमारी

- अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी के आभासी योग साप्ताहिक यज्ञ के तीसरे दिन हुआ आयोजन .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 21 Jun 2021, 10:48 PM IST

बिलासपुर . अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के आभासी योग साप्ताहिक यज्ञ के तीसरे दिन मधुमेह, अनियंत्रित रक्तचाप, मोटापा और हृदय रोग से संबंधित समस्याओं हेतु यौगिक उपाय बताए गए। सुबह के सत्र की शुरुआत कार्यक्रम से अध्यक्ष कुलपति डॉ. अरुण दिवाकर नाथ बाजपेयी ने शंख ध्वनि के माध्यम से की । उन्होंने बतलाया कि शंख ध्वनि से रक्तचाप, थायराइड संबंधित समस्या दूर होती है

मोटापा सभी समस्याओं की जड़
कार्यक्रम के विशिष्ट अनुदेशक सत्यम तिवारी अतिथि व्याख्याता योग साइंस विभाग ने पश्चिमोत्तानासन वक्रासन, मंडूकासन, सूर्य नमस्कार और प्रज्ञा योग के अभ्यास के माध्यम से बताया कि मोटापा सभी समस्याओं की जड़ है इसके द्वारा ही रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह की समस्याएं उत्पन्न होती है । हमें अनियमित दिनचर्या और आहार चर्या को त्याग कर स्वस्थ जीवन शैली हेतु योगाभ्यास करना चाहिए ।

READ MORE : International Yoga Day 2021: योगाभ्यास के लिए कौन सा समय है श्रेष्ठ, योग से पहले इन पांच बातों का जरूर रखें ध्यान

योग चित्त वृत्तियों का निरोध है
दोपहर के कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कुलपति डॉ बाजपेयी ने बतलाया कि योग चित्त वृत्तियों का निरोध है , योग जीवन शैली है, योग हमारे दृष्टिकोण में परिर्वतन कर हमे मानव से महामानव कि यात्रा की ओर लेकर जाता है । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महापौर राम शरण यादव , विशिष्ट अतिथि डॉक्टर जीडी शर्मा कुलसचिव शैक्षणिक संकाय पतंजलि विश्वविद्यालय, मुख्य वक्ता डॉ. कामाख्या कुमार विभाग अध्यक्ष योग विभाग उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय हरिद्वार उत्तराखंड थे।

आलस्य त्याग कर ब्रम्ह मुहूर्त में उठना जरूरी
डॉ. जी डी शर्मा ने बतलाया कि योग के अर्थ शब्द की व्याख्या करते हुए उन्होंने बताया कि जीवन में हमेशा वर्तमान में रहना चाहिए द्ध उन्होंने आलस्य त्याग कर ब्रहम मूर्त में उठने को महत्वपूर्ण बतलाया और योग के आसन प्राणायाम के द्वारा शारीरिक अभ्यास द्वारा संकल्प शक्ति विकसित करने पर बल दिया।

READ MORE : गुड़ खरीदी की टेंडर प्रक्रिया पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक, अगली सुनवाई 29 जून को

स्ट्रेस हार्मोन एड्रिनिलिन, ग्लुकागॉन से होती है बीमारियां
कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. कामाख्या कुमार ने बतलाया कि मधुमेह और अनियंत्रित रक्तचाप मोटापा की समस्या स्ट्रेस हार्मोन एड्रिनिलिन , ग्लुकागॉन के द्वारा उत्पन्न होती है योगासन और प्राणायाम के द्वारा हम इन पर नियंत्रण स्थापित कर सकते हैं कार्यक्रम का संयोजन कुलसचिव डॉक्टर सुधीर शर्मा ने किया। कार्यक्रम में डॉ.मनोज सिन्हा योग विभाग के विभाग अध्यक्ष डॉ सौमित्र तिवारी ,गौरव साहू , मोनिका पाठक एवं अतिथि व्याख्याता सत्यम तिवारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में अन्य विश्व विद्यालयों के व्याख्याता , शोधार्थी , बड़ी संख्या में विद्यार्थी वर्ग एवं आम जनमानस उपस्थित थे।

READ MORE : छत्तीसगढ़ में कोरोना टीकाकरण आज से बड़े बदलाव के साथ शुरू, जानें वैक्सीनेशन के लिए कैसे होगी बुकिंग

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned