मोबाइल स्क्रीन की रोशनी कहीं कर न दे आपके जीवन में अंधेरा

मोबाइल स्क्रीन की रोशनी कहीं कर न दे आपके जीवन में अंधेरा

Vikas Gupta | Publish: Jun, 09 2019 04:10:32 PM (IST) तन-मन

रात में नींद पर्याप्त न लेने पर याद्दाश्त कमजोर होने लगती है जिससे व्यक्ति में डर और तनाव बढ़ता है।

नींद के लिए मेलाटॉनिन हार्मोन बहुत जरूरी है। लेकिन मोबाइल स्क्रीन की रोशनी से यह हार्मोन प्रभावित होता है। जिससे आपकी नींद उड़ सकती है। लगातार अनिद्रा और मोबाइल की रोशनी कई रोगों को जन्म देती हैं। आइये जानते हैं इसके बारे में...

रात में नींद पर्याप्त न लेने पर याद्दाश्त कमजोर होने लगती है जिससे व्यक्ति में डर और तनाव बढ़ता है।

स्मार्टफोन अनिद्रा का कारण बनता है। ऐसे में सोचने व समझने की क्षमता प्रभावित होती है। नींद मस्तिष्क की बेहतर कार्यप्रणाली के लिए बेहद जरूरी है। लगातार फोन में देखने से उसकी लाइट के कारण आंखों में खिंचाव पड़ता है। ऐसे में ये खिंचाव तनाव का रूप लेकर पूरी बॉडी को प्रभावित करता है व दिमाग के हार्मोन असामान्य हो जाते हैं।

लंबे समय तक नींद न आने पर दिमाग में ऐसे न्यूरोटॉक्सिन बनने लगते हैं जो हमेशा के लिए नींद न आने की बीमारी पैदा कर सकते हैं। अगर आपको सोते समय भी स्मार्टफोन में देखने की लत है तो दूरी बनाने में समझदारी है।

नई रिसर्च से ये भी पता चला है कि लगातार और टेढ़े-मेढ़े पड़े रहकर मोबाइल की रोशनी देखने से आंखों के रेटिना पर भी बुरा असर पड़ सकता है। स्मार्टफोन आपको मनोरंजन देता है लेकिन नींद छीन लेता है जो कंप्यूटर की तरह दिमाग को रीबूट करती है। ऐसे में कुछ नया याद रखना मुश्किल हो जाता है।

नींद खराब होने के बाद शरीर में बनने वाले दूसरे हार्मोन भी प्रभावित हो जाते हैं। इसका नुकसान वजन बढ़ने के रूप में सामने आता है। यही स्थिति हार्ट, लिवर और पेट से जुड़ी बीमारियां पैदा करती है। रिसर्च में भी सामने आया है कि सोते समय लाइट एक्सपोजर से ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर का जोखिम भी बढ़ सकता है। ये शरीर में असामान्य बदलावों के कारण होता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned