धूम्रपान छोड़ सकते हैं अगर हो मजबूत इरादे

सिगरेट या बीड़ी की लत को छोडऩे के लिए केवल एक सख्त इरादे की जरूरत होती है। धूम्रपान छोड़ने की राह में आपको सिर्फ कुछ कदम उठाने हैं और मंजिल आपके सामने होगी।

Jitendra Kumar Rangey

June, 2211:20 AM

विल पावर मजबूत रखनी होगी
कहते हैं कि पुरानी आदतें मुश्किल से जाती हैं। लेकिन इसका मतलब यह भी नहीं है कि बुरी लत छोड़ी भी नहीं जा सकती। सिगरेट या बीड़ी की लत को छोडऩे के लिए केवल एक सख्त इरादे की जरूरत होती है। धूम्रपान छोड़ने की राह में आपको सिर्फ कुछ कदम उठाने हैं और मंजिल आपके सामने होगी। इन सबसे ज्यादा आपको अपनी विल पावर मजबूत रखनी होगी तब भी आप इसे टक्कर दे पाएंगे।
नियत्रंण रखकर पुरानी आदत को छोड़ा जा सकता है
कई देसी-विदेशी शोधों में भी यह बात निकलकर सामने आई है कि मन पर थोड़ा नियत्रंण आपको पुरानी से पुरानी आदत को भी छुड़ा सकता है। जब भी धूम्रपान की तलब हो तो बारीक सौंफ के साथ मिश्री के दाने मिलाकर धीरे-धीरे चूसें, नरम हो जाने पर चबाकर खा जाएं। अजवाइन साफ कर नींबू के रस व काले नमक में दो दिन तक भीगने दें। इसे छांव में सुखाकर रख लें। इसे चूसते रहें। छोटी हरड़ को नींबू के रस व सेंधा नमक के घोल में दो दिन तक फूलने दें। इसे निकाल छांव में सुखाकर शीशी में भर लें और इसे चूसते रहें। नरम हो जाने पर चबाकर खा लें। खाने की आदत को धीरे-धीरे छोड़ें। एकदम बंद न करें, क्योंकि रक्त में निकोटिन के स्तर को क्रमश: ही कम किया जाना चाहिए। निकोटिन च्यूइंगम भी बेहतर विकल्प हो सकती है।

Jitendra Rangey
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned