सुखाड़ की अद्यतन स्थिति की जानकारी जल्द मिलेगी, स्थिति से निपटने के लिए 100 करोड़ की व्यवस्था-मुख्यमंत्री

सुखाड़ की अद्यतन स्थिति की जानकारी जल्द मिलेगी, स्थिति से निपटने के लिए 100 करोड़ की व्यवस्था-मुख्यमंत्री

Prateek Saini | Publish: Nov, 09 2018 07:37:01 PM (IST) | Updated: Nov, 09 2018 07:37:02 PM (IST) Gumla, Jharkhand, India

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि...

(बोकारो,गुमला): मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखण्ड के सुखाड़ की स्थिति की अद्यतन जानकारी जल्द सरकार को प्राप्त होगी। 18 नवंबर को गुमला के सूखा प्रभावित प्रखंडों में शिविर का आयोजन होगा। जहां किसान फसल बीमा योजना का लाभ ले सकते हैं। किसानों का हक उन्हें जरूर मिलेगा। राज्य सरकार ने सुखाड़ के लिए 100 करोड़ का उपबंध किया है। साथ ही वृद्धों के लिए अन्नपूर्णा योजना के तहत 10 किलो अनाज देने की व्यवस्था की गई है। विपरीत परिस्थितियों के लिए गांव के मुखिया को 10 हजार रुपये दिये गए हैं, जो अनाज उपलब्ध कराने में सहायक होंगे।


मुख्यमंत्री शुक्रवार को गुमला के घाघरा प्रखंड स्थित बदरी गांव में कार्तिक उरांव स्मृति जतरा सह खेलकूद प्रतियोगिता कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि समारोह को संबोधित कर रहे थे।

नगाडा संस्कृति की पहचान

 

cm

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि मांदर व नगाड़ा झारखंड की संस्कृति की पहचान है। धरती पर नगाड़ा व मांदर की गुंजायमान होता रहे कोई और धुन ना बजे। इस संस्कृति को अक्षुण्ण रखने के लिए कार्तिक उरांव हमेशा से प्रयासरत रहे। जतरा मेला और यहां दिख रही झारखण्ड की समृद्ध संस्कृति उनके प्रयास को परिलक्षित कर रहा है। आनेवाली पीढ़ी अपनी संस्कृति से अवगत होती रहेगी, इससे सुखद बात और क्या हे सकती है?

इन्होंने आदिवासी कल्याण में झोंका जीवन

cm

मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्तिक उरांव ने विदेश जाकर शिक्षा ग्रहण की। वे इंजीनियर बनें। स्वदेश व अपने घर लौटने पर उन्हें लगा कि झारखण्ड के आदिवासियों की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। वे चाहते तो कहीं नौकरी कर आराम से जीवन जी सकते थे। लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया और आदिवासी कल्याण में खुद को झोंक दिया। उनकी इन्हीं बातों को आत्मसात कर केंद्र और राज्य सरकार कार्य कर रही है।

महिलाओं तक पहुंच रहा योजनाओं का लाभ

cm

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह महिला शक्ति का ही प्रतिफल है कि 15 नवंबर को पूरा राज्य खुले में शौच से मुक्त होने जा रहा है। रानी मिस्त्रियों ने गजब का कार्य किया है। महिलाओं कब सशक्तिकरण हेतु योजनाओं को उनतक पहुंचाया जा रहा है। अब स्कूलों का यूनिफॉर्म भी महिलाएं ही बनाएंगी। उन्हें मशीन और प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस संबंध में जिला के उपायुक्तों को निर्देश दिया जा चुका है।

 

यह लोग रहे कार्यक्रम में मौजूद

कार्यक्रम में केंद्रीय राज्यमंत्री सुदर्शन भगत, विधानसभा अध्यक्ष डॉ दिनेश उरांव, पदमश्री अशोक भगत, अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष मोहम्मद कमाल खां, गुमला के उपायुक्त समेत कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned