बड़ा खुलासा: ये अमरीकी कंपनी बेचती है फॉलोअर्स, अ​मिताभ की भी हुई थी बात

By: पवन राणा
| Published: 02 Feb 2018, 05:58 PM IST
बड़ा खुलासा: ये अमरीकी कंपनी बेचती है फॉलोअर्स, अ​मिताभ की भी हुई थी बात
Amitabh Bachchan twitter

इस कंपनी की कार्यप्रणाली की जांच करने के लिए एक स्टिंग आॅपरेशन किया। इसके तहत अखबार ने एक फेेक अकाउंट से देवूमी से ट्विटर फॉलोअर्स खरीदे...

मुंबई। अमिताभ बच्चन ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर उनके फॉलोअर्स कम करने का आरोप लगाया है। साथ ही धमकी दी है कि वह ट्विटर को छोड़ दूसरी सोशल साइट का रुख कर सकते हैं। बिग बी का ये आरोप बेहद चौंकाने वाला है। ऐसे में सोशल साइट्स पर फॉलोअर्स बढ़ाने के लिए यूजर प्रोफाइल खरीदने की चर्चाएं सामने आने लगी हैं। ऐसा ही खुलासा हाल में हुआ है।

मीडिया में वायरल हो रही खबरों के मुताबिक सोशल साइट्स पर अपने फॉलोअर्स की संख्या बढ़ाने के लिए कई कंपनियां काम करती हैं। ये कंपनियां पैकेज बेचती हैं और पैकेज के अनुसार फॉलोअर्स की संख्या का वायदा किया जाता है। ऐसी ही एक कंपनी का नाम फॉलोअर्स बेचने के चलते सुर्खियों में है। अमरीका से संचालित ये कंपनी है देवूमी Devumi,। देवूमी पर ट्विटर फॉलोअर्स बेचने और रिट्विटस करने का आरोप है।

 

Amitabh Bachchan Twitter followers

न्यूयार्क टाइम्स ने इस कंपनी की कार्यप्रणाली की जांच करने के लिए एक स्टिंग आॅपरेशन किया। इसके तहत अखबार ने एक फेेक अकाउंट से देवूमी से ट्विटर फॉलोअर्स खरीदे। 225 डॉलर के पैकेज में कुल 25000 फॉलोअर्स एड करने का करार हुआ। नए जुड़े फॉलोअर्स में 10000 प्रोफाइल असली प्रोफाइल जैसे थे। लेकिन जांच करने पर उन प्रोफाइल्स पर असली का संदेह पैदा हुआ। इसके बाद आए 15000 प्रोफाइल्स पूरी तरह से फेक थे।

बिजेनेस और कोर्ट रिकॉर्डस के मुताबिक देवूमी के ग्राहकों में बिजनेसमैन, सेलेब्रिटी, रियलिटी टीवी स्टार्स, प्रोफेशनल एथलीट्स, कॉमेडियन, टेड स्पीकर्स,मॉडल्स शामिल हैं। हालांकि इनमें से अधिकतर ने सीधे देवूमी से सम्पर्क नहीं किया। इनके एजेंट्स, मित्र या जनसम्पर्क अधिकारियों ने डील फाइनल की। देवूमी के ग्राहकों की लिस्ट 2 लाख से ज्यादा पाई गई। वहीं, न्यूयार्क टाइम्स की रिपोर्ट का दावा है कि कंपनी के पास 35 लाख आॅटोमेटेड अकांउट्स हैं। कंपनी ने अब तक 200 मिलियन ट्विटर फॉलोअर्स बेचे हैं।

देवूमी ने किया मना
देवूमी के फाउंडर जर्मन कलॉस ने सोशल मीडिया फॉलोअर्स बेचने के आरोपों को सिरे से नकार दिया है। जर्मन का कहना है कि आरोप बेबुनियाद हैं और उनकी कंपनी इस तरह के हथकंडों के बारे में कुछ नहीं जानती है। उनका ये बयान पिछले साल नवंबर में आया था।


ट्विटर ऐसे करता है सफाई
ट्विटर के प्रवक्ता क्रिस्टिन बिन्नस का कहना है कि अमूमन कंपनी यूजर खरीदने के चलते किसी अकाउंट को सस्पेंड नहीं करती है। क्योंकि ये जानना बहुत मुश्किल होता है कि यूजर्स किसने खरीदे। हालांकि कंपनी नकली और स्पैम अकांउट्स की पहचान कर उन पर नियंत्रण जरूर करती है।

जनवरी में जेसिका रेचले नाम के एक ट्विटर अकाउंट को देवूमी के सैंकड़ों ग्राहकों को फायदा पहुंचाने का दोषी पाया गया। आखिरकार इस फेक अकाउंट को ट्विटर ने सस्पेंड कर दिया। हालांकि जो असली जेसिका नाम की ट्विटर यूजर है उसने भी तय कर लिया है कि उसे अपना अकाउंट डिलीट करने में ही फायदा है।

Amitabh Bachchan Twitter quit post

 

ये है कड़वा सच
ट्विटर यूजर्स खरीदने और रिट्विट्स करवाने के इस गड़बड़झाले में कई भारतीय राजनेेताओं के नाम भी सामने आए थे। हालांकि बड़ी चालाकी से इन आरोपों को नकार दिया गया। पिछले साल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी ऐसे ही आरोप लगे थे। गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान उनके ट्विटर हैंडल पर फॉलोअर्स और रिट्विट्स का आंकड़ा अचानक बढ़ने लगा था। ऐसे में इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि बिग बी या उनके किसी सम्पर्क ने ऐसा ही कोई रास्ता अपनाया हो। हालांकि इस तरह के आरोपों को आॅनलाइन जगत में कोई गंभीरता से नहीं लेता। वजह है, आखिर हर कोई ये ही तरीका अपनाता है। तो फिर एक—दूसरे पर कीचड़ उछालने का क्या फायदा!

ऐसे में साल 2013 में बिग बी के एक ट्विटर पोस्ट की चर्चा करना लाजमी हो जाता है। इस पोस्ट में बिग बी ने एक कंपनी से फॉलोअर्स बढ़ाने के तरीके की बात की थी। हालांकि ये बातचीज फेसबुक के फॉलोअर्स बढ़ाने को लेकर हुई थी।

यहां देखें वो बातचीत: