ऋषि कपूर: 'बॉबी' ने दिलाई शोहरत और 'खेल खेल में' से मिली खोई हुई पहचान
Mahendra Yadav
Publish: Sep, 04 2018 08:01:13 (IST)
ऋषि कपूर: 'बॉबी' ने दिलाई शोहरत और 'खेल खेल में' से मिली खोई हुई पहचान

ऋषि कपूर ने अपने सिने कॅरियर की शुरुआत अपने पिता की निर्मित फिल्म 'मेरा नाम जोकर' से की।

बॉलीवुड में ऋषि कपूर का नाम एक ऐसे सदाबहार अभिनेता के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अपने रूमानी और भावपूर्ण अभिनय से लगभग तीन दशक से दर्शको के बीच अपनी खास पहचान बनायी है। 4 सितंबर 1952 को मुंबई में जन्में ऋषि कपूर को अभिनय की कला विरासत में मिली। उनके पिता राज कपूर फिल्म इंडस्ट्री के जाने माने अभिनेता और निर्माता-निर्देशक थे। घर में फिल्मी माहौल रहने के कारण ऋषि कपूर का रूझान फिल्मों की ओर हो गया और वह भी अभिनेता बनने के ख्वाब देखने लगे।

'मेरा नाम जोकर' से कॅरियर की शुरुआत:
ऋषि कपूर ने अपने सिने कॅरियर की शुरुआत अपने पिता की निर्मित फिल्म 'मेरा नाम जोकर' से की। वर्ष 1970 में प्रदर्शित इस फिल्म में ऋषि कपूर ने 14 वर्षीय लड़के की भूमिका निभाई जो अपनी शिक्षिका से प्रेम करने लगता है। अपनी इस भूमिका को उन्होंने इस तरह निभाया कि दर्शक भावविभोर हो गए। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए वह राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किये गए।

 

ऋषि कपूर: 'बॉबी' ने दिलाई शोहरत और 'खेल खेल में' से मिली खोई हुई पहचान

बॉबी से हुए फेमस:
वर्ष 1973 में अपने पिता राज कपूर के बैनर तले बनी फिल्म 'बॉबी' से बतौर अभिनेता ऋषि कपूर ने अपने सिने कॅरियर की शुरूआत की। युवा प्रेम कथा पर बनी इस फिल्म में उनकी नायिका की भूमिका डिंपल कपाडिया ने निभाई। बतौर अभिनेत्री डिंपल की भी यह पहली ही फिल्म थी। बेहतरीन गीत—संगीत और अभिनय से सजी इस फिल्म की कामयाबी ने न सिर्फ डिंपल बल्कि ऋषि कपूर को भी शोहरत की बुंलदियों पर पहुंचा दिया।

 

ऋषि कपूर: 'बॉबी' ने दिलाई शोहरत और 'खेल खेल में' से मिली खोई हुई पहचान

इस फिल्म से फेमस हुई नीतू सिंह और ऋषि की जोड़ी:
वर्ष 1975 में प्रदर्शित फिल्म 'खेल खेल में' की कामयाबी के बाद ऋषि कपूर बतौर अभिनेता अपनी खोई हुई पहचान बनाने में कामयाब हो गए। कॉलेज की जिंदगी पर बनी इस फिल्म में ऋषि कपूर की नायिका की भूमिका अभिनेत्री नीतू सिंह ने निभाई। इस फिल्म की कामयाबी के बाद ऋषि कपूर और नीतू सिंह की जोड़ी दर्शको के बीच काफी मशहूर हो गई।

इन फिल्मों में साथ आए नजर:
ऋषि और नीतू की जोड़ी ने 'रफूचक्कर', 'जहरीला इंसान','जिंदादिल','कभी कभी','अमर अकबर एंथनी','अनजाने', 'दुनिया मेरी जेब में', 'झूठा कहीं का' 'धन दौलत','दूसरा आदमी' आदि फिल्मों में युवा प्रेम की भावनाओं को निराले अंदाज में पेश किया। वर्ष 1977 में प्रदर्शित फिल्म 'अमर अकबर एंथोनी' ऋषि कपूर के सिने कॅरियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में से एक है।