कोरोना से लड़ने में लग रहे सारे डॉक्टर्स, हर शूटिंग सेट पर कैसे होंगे उपलब्ध, बॉलीवुड ने कहा- बदलो नियम

By: पवन राणा
| Published: 03 Jun 2020, 10:27 PM IST
कोरोना से लड़ने में लग रहे सारे डॉक्टर्स, हर शूटिंग सेट पर कैसे होंगे उपलब्ध, बॉलीवुड ने कहा- बदलो नियम
कोरोना से लड़ने में लग रहे सारे डॉक्टर्स, हर शूटिंग सेट पर कैसे होंगे उपलब्ध, बॉलीवुड ने कहा- बदलो नियम

एसोसिएशन का कहना है कि राज्य में पहले ही कोविड—19 के मामलों की बढ़ती संख्या के चलते मेडिकल वर्कर्स की कमी है। ऐसे में हर शूटिंग स्थल पर डॉक्टर्स और नर्सेज की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना संभव नहीं होगा।

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने हाल ही एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को शूटिंग की इजाजत दी है। हालांकि शूटिंग के दौरान तय गाइडलाइन पर सख्ती से अमल को भी कहा गया है। अब इंडियन फिल्म एंड टेलिविजन डॉयरेक्टर्स एसोसिएशन (आईएफटीडीए) ने कलाकारों-निर्माताओं की उम्र और सेट पर डॉक्टर्स की मौजूदगी वाले नियम को बदलने की अपील की है।

उम्र का नियम अव्यावहारिक
आईएफटीडीए के अध्यक्ष अशोक पंडित ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर दो नियमों पर पुनर्विचार की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर, परेश रावल, नसीरूद्दीन शाह, धर्मेन्द्र, शक्ति कपूर, जैकी श्रॉफ, अन्नू कपूर, मिथुन चक्रवर्ती जैसे कलाकार और अनिल शर्मा, डेविड धवन, सुभाष घई, मणिरत्नम, शेखर कपूर, गुलजार, जावेद अख्तर जैसे निर्माता और गीतकार 65 वर्ष की अधिक आयु के महान कलाकार गाइडलाइन के चलते काम नहीं कर पाएंगे। ऐसे सितारे इंडस्ट्री में लगातार सक्रिय हैं और बेहतरीन काम कर रहे हैं। 65 वर्ष के लोगों को शूटिंग पर नहीं आने देने का नियम अव्यावहारिक है।

एरिया वाइज उपलब्ध हों डॉक्टर्स और नर्सेज
पत्र में सेट पर डॉक्टर्स और नर्सेज की मौजूदगी की अनिवार्यता को लेकर भी सरकार का ध्यान आकर्षित किया गया है। एसोसिएशन का कहना है कि राज्य में पहले ही कोविड—19 के मामलों की बढ़ती संख्या के चलते मेडिकल वर्कर्स की कमी है। ऐसे में हर शूटिंग स्थल पर डॉक्टर्स और नर्सेज की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना संभव नहीं होगा। इस नियम पर भी सरकार पुनर्विचार करे। एसोसिएशन का सुझाव है कि बजाय हर सेट पर मेडिकल टीम की अनिवार्यता के एरिया वाइज शूटिंग लोकेशंस पर डॉक्टर्स और नर्सेज की उपलब्धता रहे।

लेनी होगी स्थानीय प्रशासन की अनुमति
गौरतलब है कि हाल ही महाराष्ट्र सरकार ने शूटिंग को लेकर अनुमति दी थी। साथ ही टीवी और फिल्म इंडस्ट्री की ओर से तय गाइडलाइन की पालना का आदेश दिया था। शूटिंग की लोकेशंस के लिए भी स्थानीय प्रशासन की अनुमति लेना अनिवार्य किया गया है।