Vishal Dadlani के दोस्तों ने PM Cares Fund में किया दान तो सिंगर बोले- हिसाब मांगो

By: Sunita Adhikari
| Published: 16 May 2020, 05:29 PM IST
Vishal Dadlani के दोस्तों ने PM Cares Fund में किया दान तो सिंगर बोले- हिसाब मांगो
Vishal Dadlani Tweet On PM Cares Fund

  • विशाल ददलानी ने लिखा, मेरे 2 दोस्त हैं, जिन्होने PM CARES FUND में दान दिया है। जाने-माने हैं, राशि भी अच्छी-खासी है। दोनों कह रहे हैं कि कुछ पता नहीं कि उनके पैसे क्या काम आए और क्या वो ग़रीबों तक पहुंच भी पाए।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग में कई लोगों ने अपना योगदान दिया है। पीएम मोदी ने जब लोगों से अपील की थी कि वह PM Cares Fund में दान करें तो बॉलीवुड सितारों ने बढ़-चढ़कर सहायता राशि दान की थी। जिसमें अक्षय कुमार- शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) से लेकर विक्की कौशल का नाम शामिल है। अब बॉलीवुड सिंगर विशाल ददलानी (Vishal Dadlani) ने PM Cares Fund को लेकर एक ट्वीट किया है, जोकि सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बटोर रहा है।

अपने इस ट्वीट में विशाल ददलानी पीएम केयर्स फंड को लेकर इशारों ही इशारों में सवाल खड़ा कर रहे हैं। वह कहते हैं मेरे दो जाने-माने दोस्तों ने पीएम केयर्स फंड में दान किया था, लेकिन दोनों कह रहे हैं कि कुछ पता नहीं कि उनके पैसे क्या काम आए और गरीबों तक पहुंच भी पाए या नहीं तो मैंने उनसे कहा कि हिसाब मांगों।

विशाल ददलानी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'मेरे 2 दोस्त हैं, जिन्होने PM-CARES fund में दान दिया है। जाने-माने हैं, राशि भी अच्छी-खासी है। दोनों कह रहे हैं कि कुछ पता नहीं कि उनके पैसे क्या काम आए और क्या वो ग़रीबों तक पहुंच भी पाए। मैने कहा, हिसाब मांगों। अचानक जैसे वो गब्बर सिंघ का खौफ़नाक background music बजने लगा।' विशाल ददलानी के इस ट्वीट से साफ है कि वह इशारों ही इशारों में पीएम केयर्स फंड को लेकर सवाल खड़ा कर रहे हैं। लेकिन उनके इस ट्वीट पर लोगों ने उन्हें जमकर ट्रोल कर दिया।

आपको बता दें कि सिंगर विशाल ददलानी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और अपने ट्वीट्स से काफी सुर्खियां बटोरते हैं। इससे पहले विशाल ददलानी ने पीएम मोदी द्वारा 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज पर ट्वीट करते हुए लिखा था, 'अब तो इस package को ख़ुद एक stimulus की ज़रूरत है। आज फिर देखेंगे के "गणित-योग" नामक आविष्कार द्वारा अंकों को तोड़-मरोड़-जोड़-निचोड़ कर, एक खाली पॅकेज को तोहफ़ा कहकर कैसे लाचार और ग़रीब जनता के गले में टांगा जाता है। (पकोड़ाnomics में भाड़े-की-hashtag-जयजय-कार भी "रोज़गार" है)'