Sushant Singh Rajput को याद कर भावुक हुए सुरेश रैना, कहा- अभी भी दुख होता है भाई लेकिन सच सामने आएगा

By: Sunita Adhikari
| Published: 23 Aug 2020, 05:50 PM IST
Sushant Singh Rajput को याद कर भावुक हुए सुरेश रैना, कहा- अभी भी दुख होता है भाई लेकिन सच सामने आएगा
Suresh Raina Gets Emotional

  • हाल ही में भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना (Suresh Raina Remember Sushant) ने याद किया है। सुरेश रैना ने सुशांत के साथ एक तस्वीर शेयर करते हुए भावुक पोस्ट किया है।

 

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) 14 जून को इस दुनिया को अलविदा कह गए। उनकी मौत को दो महीने से ज्यादा का वक्त बीत गया है लेकिन अभी भी लोग उन्हें याद करते हैं। सोशल मीडिया (Social Media) पर सुशांत के फैंस उन्हें रोजाना याद करते हैं। उनके फैंस लगातार सुशांत को याद करते हुए उनके लिए भावुक पोस्ट लिखते हैं। वहीं, उनके करीबी भी सुशांत को याद कर भावुक हो जाते हैं। हाल ही में भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना (Suresh Raina Remember Sushant) ने याद किया है।

सुरेश रैना ने सुशांत के साथ एक तस्वीर शेयर करते हुए भावुक पोस्ट किया है। सुरेश रैना ने जो तस्वीर शेयर की है, उसमें सुशांत लंबे बालों में नजर आ रहे हैं इससे साफ जाहिर होता है कि यह तस्वीर एमएस धोनी अनटोल्ड स्टोरी (MS Dhoni: The Untold Story) के समय की है। सुरेश रैना इस तस्वीर को शेयर करते हुए ट्वीट में लिखा, 'अभी भी दुख होता है भाई लेकिन सच सामने आएगा।' सुरेश रैना का यह पोस्ट अब सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने घर में मृत पाए गए थे। उनकी आकस्मिक मौत ने सभी को हिला कर रख दिया था। मुंबई पुलिस ने इसे सुसाइड के तौर पर लेते हुए इस केस की जांच कर रही थीं। लेकिन पूरे देश में यह कोई मानने को तैयार नहीं था कि सुशांत जैसा खुशमिजाज, जिंदादिल और जिसने जिंदगी के लिए कई सपने देखे हों, वो सुसाइड कर सकता है। ऐसे में सोशल मीडिया पर फैंस ने सुशांत के करीबियों ने सीबीआई जांच की मांग की। और दो महीने बाद बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस केस की जांच सीबीआई को सौंप दी।

सीबीआई के पास केस आते ही उन्होंने अपनी जांच शुरू कर दी है। सीबीआई इस वक्त सुशांत के साथ रह रहे सिद्धार्थ पिठानी, नीरज और दिपेश से पूछताछ कर रही है। खबरों के मुताबिक सिद्धार्थ पिठानी (Sidharth Pithani) और नीरज के बयानों में विरोधाभास दिखा।