Dev Anand के काले कोट का वो राज जिस कारण लड़कियां हो जाती थी दीवानी, कोर्ट को लगाना पड़ा था बैन

By: Neha Gupta
| Published: 26 Sep 2020, 10:19 PM IST
Dev Anand के काले कोट का वो राज जिस कारण लड़कियां हो जाती थी दीवानी, कोर्ट को लगाना पड़ा था बैन
Dev Anand Birthday

देव आनंद (Dev Anand) ऐसे पहले सुपरस्टार थे जिन्हें रोमांस का किंग माना जाता था। उनकी एक्टिंग के साथ-साथ लोग उनके स्टाइल और लुक्स के भी दीवाने थे। देव आनंद अपने जमाने में इतने पॉपुलर थे कि उन्हें देखने के लिए सिर्फ लड़कियों की ही नहीं बल्कि लड़कों की भी लाइन लग जाती थी।

नई दिल्ली | बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता देव आनंद (Dev Anand) का आज यानी शनिवार को 97वां जन्मदिन है। देव आनंद ऐसे पहले सुपरस्टार थे जिन्हें रोमांस का किंग माना जाता था। उनकी एक्टिंग के साथ-साथ लोग उनके स्टाइल और लुक्स के भी दीवाने थे। देव आनंद अपने जमाने में इतने पॉपुलर थे कि उन्हें देखने के लिए सिर्फ लड़कियों की ही नहीं बल्कि लड़कों की भी लाइन लग जाती थी। देव आनंद को काले कोट में आपने फिल्म काला पानी में देखा ही होगा। इस फिल्म में देव आनंद सफेद शर्ट में काले कोट के साथ नजर आए थे। ऐसी भी खबरें थी कि काला कोट पहनना देव आनंद के लिए परेशानी बन गया था।

फिल्म काला पानी में देव आनंद सफेद शर्ट और काले कोट में दिखाई दिए तो लड़कियों से लेकर लड़के भी उनपर फिदा हो गए। इसके बाद जब भी देव आनंद काला कोट पहनकर निकलते थे तो उन्हें देखने के लिए लड़कियां छत से छलांग तक लगानी लगी थीं।

ऐसी खबरें थीं कि देव आनंद इससे इतने परेशान हो गए और बाकी लोगों के लिए भी ये परेशानी का सबब बन गया था। जिसके बाद कोर्ट को बीच में आना पड़ा था और उनके काले कोट पहनने पर बैन लगाना पड़ा था। हालांकि देव आनंद ने अपनी बुक ‘रोमांसिंग विद लाइफ’ में इस बात से साफ इंकार किया है। उन्होंने लिखा था कि ये गलत तरह की अफवाह है। लेकिन इस बात में कोई दोहराय नहीं है कि देव आनंद काले कोट में गजब के हैंडसम लगते थे। देव आनंद का लुक युवाओं में बेहद पसंद किया जाता था।

बता दें कि देव आनंद ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत साल 1946 में 'हम एक हैं' से की थी। हालांकि ये फिल्म कुछ खास चली नहीं थी। इसके बाद 1948 में आई फिल्म जिद्दी ने देव आनंद को रातों रात स्टार बना दिया। देवानंद ने अपने पूरे करियर में 112 फिल्मों के करीब की हैं। देव आनंद का निधन 3 दिसंबर 2011 में हुआ था।