DHADAK BOX OFFICE: ताबड़तोड़ कमाई कर रही हैं जाह्नवी कपूर की फिल्म, फर्स्ट वीकेंड कमाए इतने करोड़ ...
Amit Kumar Singh
Publish: Jul, 23 2018 04:29:09 (IST)
DHADAK BOX OFFICE: ताबड़तोड़ कमाई कर रही हैं जाह्नवी कपूर की फिल्म, फर्स्ट वीकेंड कमाए इतने करोड़ ...

इस शुक्रवार रीलीज हुई फिल्म 'धड़क' इन दिनों सिनेमाघरों में ठीक ठाक कमाई कर रही है। फिल्म की स्टारकॉस्ट में जाह्नवी कपूर और ईआन खट्टर हैं।

जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर स्टारर फिल्म 'धड़क' के ताबड़तोड़ कमाई करने का सिलसिला जारी है। पहले दिन की बम्पर ओपनिंग के बाद फिल्म ने अब तक कुल 33.67 करोड़ रुपए कमा लिए है। शशांक खेतान निर्देशित इस फिल्म ने पहले दिन जहां 8.71 करोड़, दूसरे दिन 11.04 करोड़ और तीसरे दिन 13.92 करोड़ रुपए कमा लिए है। हाल ही में मूवी क्रिटिक्स तरण आदर्श ने ट्वीट कर फिल्म से जुड़े यह आकड़े शेयर किए हैं।

 

सभी फिल्म समीक्षक इस मूवी को तकरीबन 3 स्टार दे रहे हैं। फिल्म में रोमांस, कॉमेडी और पॉलिटिक्स का भरपूर तड़का है। इस मूवी के माध्यम से समाज के उस पक्ष पर कटाक्ष किया गया है जहां प्यार के पैमानें सामाजिक समीकरणों पर आधारित होते हैं।

सलमान खान के कारण फिल्म जगत में छाया था हिमेश का सुरुर, आज भी दर्ज है सिंगर के नाम ये दिलचस्प रिकार्ड

 

dhadak

मराठी फिल्म की रिमेक
करण जौहर निर्मित यह फिल्म 2016 की ब्लॉकबस्टर फिल्म सैराट की रीमेक है। 5 करोड़ में बनी इस फिल्म ने करीब 100 करोड़ की कमाई की थी। हालांकि धड़क, सैराट की बराबरी नहीं कर पाई।वहीं शुरू से ही दर्शकों में इस बात को देखने की दिलचस्पी थी की आखिर सैराट के मुकाबले यह फिल्म कैसी रहती है। मूवी देखने के बाद सभी फिल्म समीक्षकों ने एक सुर में यह बात मानी की धड़क दूर दूर तक सैराट की बराबरी नहीं कर पाई है। हालांकि ईशान और जाह्नवी की क्यूट कैमिस्ट्री देखने को मिली है।

पूर्णा पटेल की शादी के रिसेप्शन में पहुंचे सलमान समेत बॉलीवुड के कई सितारे

dhadak

कहानी :
कहानी उदयपुर से शुरु होती है। जहां मधुकर (ईशान खट्टर) मन ही मन पार्थवी (जाह्नवी कपूर) को पसंद करता है। कॉलेज के फर्स्ट ईयर में वो लगातार तीन बार फेल होता है ताकी वो पार्थवी के साथ एक ही क्लास में पढ़ सके। धीरे-धीरे पार्थवी भी उसे पसंद करने लगती है, लेकिन इन दोनों के प्यार के दुश्मन बन जाते हैं पार्थवी के पिता और उदयपुर के दबंग नेता रतन सिंह (आशुतोष राणा)। रतन सिंह किसी भी तरह विधानसभा चुनाव जीतना चाहते हैं।उसके लिए वो किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हो जाते हैं। जैसी ही उन्हें अपनी बेटी के प्यार की खबर लगती है वो मधुकर के जान के दुश्मन बन जाते हैं। वहीं अपने प्यार के खातिर पार्थवी पूरी दुनिया के सामने मधुकर का ढाल बनकर खड़ी हो जाती है और अपने ही पिता पर बंदूक तान देती है। दोनों अपने प्यार को बचाने के लिए उदयपुर छोड़ मुंबई, नागपुर होते हुए कोलकाता बस जाते हैं। बस यहीं से शुरू होती हैं उनकी जिंदगी की जद्दोजहद। बदलते हालातों को देखकर उसके मन में ये बात घर करने लगती है कि क्या उसने मधु के साथ भागकर सही किया। फिल्म में ऐसे कई टर्निंग प्वाइंट आते हैं जो कहानी में नया टि्वस्ट पैदा कर देते हैं।

IBFA अवॉर्ड 2018 में यूट्यूब क्वीन आम्रपाली दूबे ने बिखेरा हुस्न का जलवा