सुशांत सिंह को याद कर भावुक हुईं Ekta Kapoor, लिखा-हमारे मानव की याद में, अभी और हमेशा के लिए...

By: पवन राणा
| Published: 21 Jan 2021, 10:46 PM IST
सुशांत सिंह को याद कर भावुक हुईं Ekta Kapoor, लिखा-हमारे मानव की याद में, अभी और हमेशा के लिए...
Ekta Kapoor and Sushant Singh Rajput

  • एकता कपूर ने सुशांत सिंह को उनकी 35वीं जयंती पर किया याद
  • अभिनेता के पहले शो ’पवित्र रिश्ता’ की यादें की ताजा
  • बहन प्रियंका ने भी लिखी इमोशनल पोस्ट

मुंबई। निर्माता एकता कपूर ( Ekta Kapoor ) ने गुरुवार को दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ( Sushant Singh Rajput ) की 35वीं जयंती पर उनको याद किया। एकता ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो साझा किया, जो उनके टीवी शो पवित्र रिश्ता के कई दृश्यों के कोलाज से बना है, जिसने सुशांत को रातोंरात लोकप्रिय बना दिया था।

यह भी पढ़ें : जैकलीन की ऐसी जगह से फटी ड्रेस, लोगों ने कहा-मैडम, ड्रेस में छेद है, तस्वीरें हुईं वायरल

’सितारे की तरह चमकते रहना’
एकता कपूर द्वारा साझा किए गए वीडियो में लिखा था,’हमारे मानव की याद में, अभी और हमेशा के लिए।’
इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा,’सुशी फॉरेवर। चमकते सितारे की तरह चमकते रहना। जहां भी हो ढेर सारा प्यार। हैप्पी बर्थ ऑन अर्थ डे।’

 

मानव देशमुख के रूप में हुए थे लोकप्रिय
बता दें कि सुशांत ने बॉलीवुड में कदम रखने से पहले एक टेलीविजन अभिनेता के रूप में अपना करियर शुरू किया था। एकता ने सुशांत को एक अभिनेता के रूप में बालाजी टीवी शो किस ’देश में है मेरा दिल’ में लॉन्च किया था। बॉलीवुड में कदम रखने से पहले वे बालाजी के शो ’पवित्र रिश्ता’ में मानव देशमुख के रूप में लोकप्रिय हुए।

यह भी पढ़ें : पति रितेश से नहीं, रूबीना के पति के माध्यम से बच्चा चाहती हैं राखी सावंत, बताया पूरा प्लान

तुम्हारी खामोशी को सहना अब मुश्किल
सुशांत सिंह की बहन प्रियंका सिंह ने भाई को याद करते हुए इंस्टाग्राम पर एक वीडियो साझा किया है। इस पोस्ट को कैप्शन देते हुए प्रियंका ने लिखा है,’मेरा गौरव और मेरा जिगरी दोस्त, हम दोनों सिर्फ भाई.बहन के रूप में बड़े नहीं हुए हैं, बल्कि हमारे बीच गहरी दोस्ती का एक रिश्ता भी पनपा। हम एक-दूसरे के प्रति समर्पित साथी रहे हैं।बीते दिनों तुम जहां कहीं भी गए हो, हर बार तुमने अपनी वापसी की है। इस बार भी जब तुम छोड़कर गए, तब तुमने और भी मजबूती से अपनी वापसी की है। तुम मेरी हर एक सांस में समा गए हो, तुम्हारी गहरी आंखें, मासूम सी मुस्कुराहट हमेशा के लिए मेरे दोस्त बन गए हैं, मेरी हर सोच में तुम समा गए हो। तुम्हारी मौजूदगी का अहसास मुझे हर पल होता है।’ आखिर में प्रियंका लिखती हैं,’लेकिन इस बार मैं तुम्हें सुन नहीं सकती। मैं दुआ मांगती हूं कि तुम्हारा जवाब आए, तुम मेरी बातों पर अपनी प्रतिक्रियाएं दो, क्योंकि तुम्हारी खामोशी को सहना अब मुश्किल हो गया है।’