Fair शब्द हटाने के बाद आया Nandita Das का रिएक्शन, बोलीं- अभी भी बड़ा कदम लेना बाकी है

By: Sunita Adhikari
| Published: 26 Jun 2020, 03:10 PM IST
Fair शब्द हटाने के बाद आया Nandita Das का रिएक्शन, बोलीं- अभी भी बड़ा कदम लेना बाकी है
Nandita Das

  • बॉलीवुड एक्ट्रेस नंदिता दास (Nandita Das Reaction) ने फेयर शब्द हटाए जाने पर रिएक्शन देते हुए कहा कि यह केवल सिम्बॉलिक चेंज है, बड़ा बदलाव आना बाकी है।

नई दिल्ली: एफएमसीजी कंपनी हिंदुस्तान यूनिलिवर (HUL) अपने ब्रैंड फेयर एंड लवली (Fair & Lovely) का नाम बदलेगा। फेयरनेस क्रीम (Fairness Cream) के नाम से फेयर शब्द हटा जाएगा। इस फैसले के बाद लोगों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। बॉलीवुड सेलेब्स (Bollywood Celebs) ने भी इस पर अपनी खुशी जाहिर की है। बॉलीवुड एक्ट्रेस नंदिता दास (Nandita Das Reaction) ने भी अपना रिएक्शन देते हुए कहा कि यह केवल सिम्बॉलिक चेंज है, बड़ा बदलाव आना बाकी है।

बड़ा कदम लेना अभी बाकी है

नंदिता दास ने मुंबई मिरर को दिए एक इंटरव्यू में कहा, 'कोरोना महामारी के बीच कई सामाजिक गलतियों ने आश्चर्यजनक रूप से सहानुभूति प्राप्त की है। आज एक घोषणा हुई कि उत्पादों से फेयरनेस, व्हाइटनिंग और लाइटनिंग शब्द हटाएंगे, यह ऐसा फैसला है जिसे अभी तक किसी ने नहीं देखा है। नंदिता आगे कहती हैं, ये सिर्फ प्रतीकात्मक है, उन्होंने बनाना बंद नहीं किया है। बस संदेश को बदल दिया गया है। लेकिन अभी भी बड़ा कदम लेना बाकी है। सुंदरता के नाम पर कई ब्रांड करोड़ों रुपए खर्च करते हैं। दुनिया में इतने सारे रूपों के साथ भेदभाव किया जाता है। पैदाईश की पहचान ही उम्र भर साथ रहती है लेकिन तेजी से, इसे चुनौती दी जा रही है और खुशी इस बात की है कि अब इसे नजरअंदाज नहीं किया जा रहा।'

जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद बदलाव

आपको बता दें कि फेयर शब्द हटाने का फैसला रंग भेदभाव को खत्म करने के लिए दुनियाभर में चल रहे विरोध के चलते लिया गया है। अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (Killing of George Floyd) की पुलिस कस्टडी में मौत का कई देशों में विरोध किया गया। साथ ही #BlackLivesMatter मूवमेंट चल रहा है। जिसे लगभग हर किसी का समर्थन मिल रहा है। यूनिलिवर ब्यूटी एंड पर्सनल केयर डिवीजन के अध्यक्ष सनी जैन ने कहा कि हम इस बात को समझते हैं कि फेयर, व्हाइट और लाइट जैसे शब्द सुंदरता की एकतरफा परिभाषा को जाहिर करते हैं, जो कि सही नहीं है। हम इसे सुधारना चाहते हैं।

कंपनी ने कहा कि अब वह अपने विज्ञापनों में हर रंग की महिलाओं को शामिल करेंगे। बता दें कि भारत के अलावा यह क्रीम बांग्लादेश, इंडोनेशिया, थाईलैंड, पाकिस्तान और एशिया के कई देशों में बिकती है।