Web Series, ओटीटी पर फिल्मों के कंटेंट पर बनेंगे नियम-कायदे, सरकार ने की ये तैयारी

By: पवन राणा
| Published: 10 Jul 2020, 09:32 PM IST
Web Series,  ओटीटी पर फिल्मों के कंटेंट पर बनेंगे नियम-कायदे, सरकार ने की ये तैयारी
Web Series, ओटीटी पर फिल्मों के कंटेंट पर बनेंगे नियम-कायदे, सरकार ने की ये तैयारी

ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज 'सेक्रेड गेम्स' ( Sacred Games Web Series ) वेब सीरीज में कुछ डायलॉग और सीन को लेकर विवाद हुआ था। हाल ही स्वरा भास्कर ( Swara Bhaskar ) की नई वेब सीरीज 'रसभरी' ( Rasbhari Web series ) पर अश्लीलता के आरोप लगे। सेंसर बोर्ड के प्रमुख प्रसून जोशी ( Prasoon Joshi ) ने भी सोशल मीडिया पर इसके एक सीन पर आपत्ति की थी।

मुंबई। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ( I&B ) ने ओवर द टॉप ( OTT ) कंटेंट को सूचना-तकनीक मंत्रालय (IT) से अपने अधिकार क्षेत्र में लेने का प्रस्ताव रखा है। बीते मंगलवार को 'फिक्की फ्रेम्स 2020' के ऑनलाइन सेशन में आईबी सचिव अमित खरे ने बताया कि डिजिटल प्लेटफॉर्म होने के चलते ओटीटी आईटी मिनिस्ट्री के अंतर्गत आता है, लेकिन अब हमने प्रस्ताव रखा है कि इसके कंटेंट आईबी के अंतर्गत आने चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में नियामक दिशा-निर्देश अलग-अलग प्लेटफॉर्म के अनुसार बनाए गए हैं, लेकिन ओटीटी जैसे उभरते प्लेयर्स के लिए अब तक कोई नियम कायदे नहीं हैं। खरे ने उदाहरण देते हुए कहा कि वर्तमान में ओटीटी पर रिलीज मूवी को सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन कवर नहीं करता, क्योंकि इसे फिल्म के रूप में नहीं दिखाया जाता। लॉकडाउन के दौरान कई प्रोडक्शन हाउस ने अपनी मूवीज ओटीटी पर रिलीज की हैं और इनके सब्सक्रिप्शन में जोरदार इजाफा हुआ है।

सभी के लिए समान नजरिया जरूरी
खरे ने कहा कि प्रिंट, रेडियो, टीवी, फिल्म्स और ओटीटी में से चार पर किसी न किसी प्रकार के दिशा-निर्देश लागू होते हैं, लेकिन एक पर नहीं। टेलिकॉम, मीडिया एवं एंटरटेनमेंट को समान दृष्टि से देखा जाना चाहिए। हालांकि उन्होंने जोर देकर कहा कि सभी में एकरूपता लाने का मतलब यह नहीं है कि इन्हें भारी नियामक ढांचे के अंतर्गत लाया जाएगा। पिछले कुछ वर्षों में सरकार का फोकस कम, लेकिन ज्यादा प्रभावी नियमों को लागू करना रहा है। खरे ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स की भूमिका का विस्तार हुआ है। फिलहाल मानव संसाधन विकास को मीडिया एवं एंटरटेनमेंट से जोड़ने की जरूरत है। इस क्षेत्र में हम शिक्षा को आगे बढ़ा सकते हैं।

इन पर हुआ विवाद
ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज 'सेक्रेड गेम्स' ( Sacred Games Web Series ) वेब सीरीज में कुछ डायलॉग और सीन को लेकर विवाद हुआ था। हाल ही स्वरा भास्कर ( Swara Bhaskar ) की नई वेब सीरीज 'रसभरी' ( Rasbhari Web series ) पर अश्लीलता के आरोप लगे। सेंसर बोर्ड के प्रमुख प्रसून जोशी ( Prasoon Joshi ) ने भी सोशल मीडिया पर इसके एक सीन पर आपत्ति की थी। अनुष्का शर्मा ( Anushka Sharma ) के प्रोडक्शन की वेब सीरीज 'पाताल लोक' ( Patal Lok Web series ) के भी डायलॉग को लेकर विवाद हुआ। अश्लील दृश्यों और गाली-गलौच से भरी भाषा को लेकर लम्बे समय से ओटीटी पर लगाम की आवाजें उठती रहीं हैं।

शूटिंग के लिए एसओपी जारी करेगी केन्द्र सरकार
लंबे लॉकडाउन के बाद टीवी शो और फिल्मों की शूटिंग शुरू हो गई है। सरकार इसमें तेजी लाने का प्रयास कर रही है। सूचना-प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि जल्द ही केन्द्र सरकार फिल्मों की शूटिंग के लिए एसओपी (स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर) जारी करेगी। फिल्मों के निर्माण को गति देने के लिए सरकार प्रोत्साहन राशि भी देगी। उन्होंने मीडिया और मनोरंजन को सॉफ्ट पावर बताते हुए कहा कि सबको साथ मिलकर काम करना चाहिए। कोरोना काल में जो ठहर गया था, उसमें तेजी लाने के लिए सरकार निर्माण के सभी क्षेत्रों जैसे- टीवी सीरियल, फिल्मों के निर्माण, एनिमेशन और गेमिंग को प्रोत्साहित करेगी। इस संदर्भ में जल्द घोषणा की जाएगी। जावडेकर ने बताया कि 80 से अधिक विदेशी फिल्म निर्माताओं ने भारत में शूटिंग के लिए एकल खिड़की सुविधा का लाभ उठाया है।

ओटीटी नियामक कमेटी
गौरतलब है कि प्रकाश जावडेकर ने ओटीटी के लिए सेल्फ रेगुलेशन की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा था कि ओटीटी प्लेटफॉर्म को जल्द सेल्फ रेगुलेशन का तंत्र तैयार करना होगा और इसका सख्ती से पालन भी करना होगा। ऐसा नहीं हुआ तो सरकार इसके लिए कानूनी विकल्पों पर गौर करेगी। उन्होंने इसका खाका तैयार करने के लिए सौ दिन दिए। उन्होंने सुझाव दिया कि ओटीटी की रेगुलेशन बॉडी को एक जज या किसी प्रमुख तटस्थ व्यक्ति की अध्यक्षता में कमेटी की व्यवस्था करनी चाहिए, जो शिकायतों को देख सके। शिकायतें सही पाई जाती हैं तो कंटेंट के निर्माता और ओटीटी चैनल, दोनों पर यह बॉडी उचित कार्रवाई करे।