सलमान के बाद ओम पुरी पाकिस्तान कलाकारों के समर्थन में आए
Kamal Singh Rajpoot
| Updated: 03 Oct 2016, 11:15:00 PM (IST)
सलमान के बाद ओम पुरी पाकिस्तान कलाकारों के समर्थन में आए
om puri

पुरी ने कहा कि कला और राजनीति को एक-दूसरे से अलग रखना चाहिए और पाक कलाकारों पर प्रतिबंध लगाने से दोनों देशों की स्थिति में कोई फर्क नहीं आएगा

मुंबई। बॉलीवुड के दबंग सलमान के बाद दिग्गज अभिनेता ओम पुरी और निर्देशक नागेश कुकुनूर भी पाकिस्तानी कलाकारों के समर्थन में आ गए है। पुरी ने कहा कि कला और राजनीति को एक-दूसरे से अलग रखना चाहिए और पाक कलाकारों पर प्रतिबंध लगाने से दोनों देशों की स्थिति में कोई फर्क नहीं आएगा। उन्होंने पाक कलाकार हमारे देश में कोई गैर कानूनी तरीके से काम नहीं कर रहे है और उन्हें वापस भेजने से उन भारतीय फिल्म निर्माताओं को काफी नुकसान होगा जिन्होंने उन एक्टरों अपनी फिल्मों में ले रखा है।

65 वर्षीय अभिनेता ने यहां कहा, जब सरकार कार्रवाई कर रही है तो हम सबको शांत रहना चाहिए. हम यहां काम कर रहे पाकिस्तानी कलाकारों को वापस भेजें या यहीं रहने दे, यह शायद ही मायने रखता है. मैं छह बार पाकिस्तान गया हूं और वहां हर वर्ग के लोगों से मिला हूं।

उन्होंने कहा, वहां के लोग हमेशा मुझसे प्रेम और गर्मजोशी से मिले। अगर पाकिस्तानी कलाकार जिन फिल्मों में काम कर रहे हैं, उन्हें वे बीच में ही छोड़ दें तो भारत में लोगों (फिल्मकारों) को वित्तीय नुकसान उठाना होगा। कलाकार किसी गैरकानूनी तरीके से यहां नहीं आए हैं। वे वैध वीजा पर यहां हैं। लेकिन अगर सरकार उन्हें देश छोडऩे को कहे तो वह अलग है। फिल्मकार नागेश कुकुनूर ने कहा कि हालांकि भारत और पाकिस्तान के बीच स्थिति जटिल है, उनका मानना है कि कला को राजनीति से दूर रखना चाहिए.

कुकुनूर ने कहा, मेरा हमेशा मानना रहा है कि कला को अकेले खड़ा होना चाहिए. अगर आप किसी देश के इतिहास के सबसे बुरे दौर को देखे जैसे द्वितीय विश्वयुद्ध तो कला की तब भी अपनी आवाज थी। मुझे नहीं लगता कि दोनों में घालमेल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, भारत-पाकिस्तान की स्थिति एक बेहद जटिल स्थिति है. हम सब एक ही देश के हिस्से हैं. साथ मिलकर शांति की तलाश करने के लिहाज से 60-70 साल बहुत ही छोटी अवधि है।

इससे पहले हाल में अभिनेता सलमान खान ने भी पाकिस्तानी कलाकारों पर लगे प्रतिबंध का विरोध करते हुए कहा था कि वे आतंकवादी नहीं बल्कि कलाकार हैं। फिल्म उद्योग उरी हमले के बाद पाकिस्तानी कलाकारों पर प्रतिबंध लगाने के मुद्दे पर विभाजित है. अभिनेता रणदीप हुड्डा, फिल्मकार अशोक पंडित, अभिनेता अनुपम खेर सहित कई अन्य ने इस प्रतिबंध का समर्थन किया है। हुड्डा ने कहा कि पाकिस्तान को सांस्कृतिक रूप से भी अलग थलग करना चाहिए।