देशभक्ति पर बनी ये फिल्में नहीं देखीं तो क्या देखा!!!

By: पवन राणा
| Published: 26 Jan 2018, 07:37 PM IST

ये ऐसे सैनिकों की टुकड़ी की कहानी थी, जो लद्दाख में भारत-चीन युद्ध के दौरान सोचते हैं कि उनकी मौत निश्चित है लेकिन उनमें से कुछ सैनिकों को...

मुंबई। जंग-ए-आजादी की याद दिलाने वाली बॉलीवुड में कई ऐसी फिल्में बनी हैं जो देश की आजादी के संघर्ष की गाथा को बखूबी बयान करती हैं और देशभक्ति का जज्बा जगाती हैं। उस दर्द को यह फिल्में हम सबके सामने लाईं जिसे हम शायद ही कभी महसूस कर पाते। आज हम आपको बताने जा रहे हैं बॉलीवुड की ऐसी कुछ फिल्मों के बारे में, जो देशभक्ति के ऊपर बनी हैं।

बॉलीवुड और देशभक्ति का पुराना रिश्ता रहा है। हमारे सिनेमा में देशभक्ति के ऊपर सैकड़ों फिल्में बन चुकी हैं। इनमें से कई फिल्में बड़े पैमाने पर सफल भी हुई हैं। आइए जानते है उन फिल्मों के बारे में जो आपके अंदर जगाती हैं देशभक्ति की भावना.....

आनंद मठ- 1952
1952 में आई फिल्म ‘आनंद मठ’ संन्यासी क्रांतिकारियों की आजादी की लड़ाई की कहानी थी जो 18वीं शताब्दी में अंग्रेजों के खिलाफ हुई थी। इस फिल्म में ‘वंदे मातरम’ गीत का भी इस्तेमाल किया गया था।

हकीकत- 1964
1964 में आई फिल्म ‘हकीकत’ ऐसे सैनिकों की टुकड़ी की कहानी थी, जो लद्दाख में भारत-चीन युद्ध के दौरान सोचते हैं कि उनकी मौत निश्चित है लेकिन उनमें से कुछ सैनिकों को कैप्टन बहादुर सिंह बचाने में सफल हुए थे।

शहीद- 1965
‘शहीद’ भारतीय स्वतंत्रता संग्राम पर आधारित फिल्म थी। भगत सिंह के जीवन पर 1965 में बनी यह देशभक्ति की सर्वश्रेष्ठ फिल्म थी। जिसकी कहानी स्वयं भगत सिंह के साथी बटुकेश्वर दत्त ने लिखी थी।

उपकार- 1967
1967 में आई फिल्म ‘उपकार’ देशभक्ति से ओतप्रोत फिल्म है, जिसे बनाने का उद्देश्य था ‘जय जवान, जय किसान’ का नारा बुलंद करना।

गांधी- 1982
‘गांधी’ 1982 में बनी मोहनदास करमचंद गांधी के वास्तविक जीवन पर आधारित फिल्म थी। फ़िल्म का निर्देशन रिचर्ड एटनबरो द्वारा किया गया है और इसमें बेन किंग्सले गांधी की भूमिका में है।


बॉर्डर- 1997
फिल्म ‘बॉर्डर’ 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध पर आधारित थी। इस फिल्म की कहानी एक सत्य घटना से प्रेरित थी।