सौ करोड़ के लिए नहीं बल्कि दिल के लिए करता हूं काम : राजकुमार राव
Amit Singh
Publish: Sep, 08 2018 01:47:29 (IST)
सौ करोड़ के लिए नहीं बल्कि दिल के लिए करता हूं काम : राजकुमार राव

राजकुमार राव की फिल्म 'स्त्री' हाल ही में प्रदर्शित हुई जो हिट साबित हुई है।

बॉलीवुड में अपने संजीदा अभिनय के लिये मशहूर राजकुमार राव का कहना है कि वह बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ कमाने के लिये फिल्मों में काम नहीं करते हैं। राजकुमार राव के लिये वर्ष 2017 काफी शानदार रहा। 'बरेली की बर्फी', 'न्यूटन', 'ट्रैप्ड', 'शादी में ज़रूर आना' जैसी फिल्मों के जरिए राजकुमार ने अपनी अलग पहचान बनाई। राजकुमार राव की फिल्म 'स्त्री' हाल ही में प्रदर्शित हुई जो हिट साबित हुई है। उन्होंने कहा, 'मैं हमेशा अपनी लिमिट को आगे ढकेलने की कोशिश करता हूं। पिछली बार से बेहतर करने की कोशिश करता हूं। यदि मुझे कहानी अच्छी लगी तो मैं तुरंत फिल्म के लिए हां कर देता हूं। मैं इस मामले में केवल दिल की सुनता हूं।'

 

STREE

100 करोड़ कमाने के लिए नहीं करता काम
राजकुमार राव ने कहा कहा कि फिल्म कितना कमाती है यदि हर समय यही देखा जाए तो फिर मैं काम कैसे करूंगा। कितनी कमाई हुई, होगी कि नहीं होगी ये सब मैं नहीं सोचता। फिल्मों का बॉक्स ऑफिस पर सफल होना किसी के हाथ में नहीं होता। मेरी फिल्में सफल होती हैं, घाटे में नहीं जाती, मैं इससे खुश हूं। लोग मेरे अभिनय की, मेरे काम की तारीफ करते हैं, मुझे उससे संतुष्टि मिलती है। मैं बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ कमाने के लिए फिल्में नहीं करता हूं।'

 

STREE

परंपरागत काम करने में मजा नहीं
राजकुमार ने कहा, परंपरागत काम करने में क्या मजा आता है? मैं किसी ऐसे व्यक्ति के रूप में जाना जाता हूं, जो अपरंपरागत है। मुझे अपरंपरागत होना पसंद है। मुझे ऐसी काम करना पसंद है, जो अलग हो। यही मुझे एक अभिनेता के रूप में बढ़ावा देता है।

 

STREE

दबाव में नहीं करते काम
हंसल मेहता, विक्रमादित्य मोटवानी और अमित वी. मासुरकर जैसे भारतीय सिनेमा के कुछ बेहतरीन फिल्म निर्माताओं के साथ काम करने के बाद, राजकुमार का कहना है कि वह दबाव में काम नहीं करते हैं। उन्होंने कहा, मैं दबाव नहीं लेता। मैं दबाव में काम ही नहीं कर सकता। मैं एक समय में एक फिल्म करता हूं और मैं उसी पल में जीने की कोशिश करता हूं। मैं भविष्यवादी व्यक्ति नहीं हूं, जो सोचता है कि पांच वर्ष बाद क्या होगा। और मैं अतीत में नहीं जीता। मैं अपनी सारी ऊर्जा वर्तमान में जो हो रहा होता है, उसी में लगाता हूं।