चीन में चमकेगा भारत: शंघाई फिल्म समारोह में दिखाई जाएंगी भारत की 8 फिल्में

By: पवन राणा
| Updated: 24 Jul 2020, 04:48 PM IST
चीन में चमकेगा भारत: शंघाई फिल्म समारोह में दिखाई जाएंगी भारत की 8 फिल्में
आज उठेगा शंघाई फिल्म समारोह का पर्दा, चीन में चमकेगा भारत

सात अगस्त तक चलने वाले शंघाई अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह ( Shanghai International Film Festival 2020 ) में प्रकाश झा ( Prakash Jha ) की 'परीक्षा' ( Pareeksha ) , गौतम घोष ( Gautam Ghosh ) की 'राहगीर' ( Raahgir Movie ), अनुभव सिन्हा ( Anubhav Sinha ) की 'आर्टिकल 15' ( Article 15 Movie ) और अजय बहल ( Ajay Bahl ) की 'सेक्शन 375' ( Section 375 Movie ) समेत आठ भारतीय फिल्में दिखाई जाएंगी।

- दिनेश ठाकुर
कोरोना काल में दुनियाभर के बड़े आयोजन ठप पड़े हैं, लेकिन चीन में एक बड़े आयोजन के लिए कालीन बिछाए जा चुके हैं। वहां शंघाई अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह ( Shanghai International Film Festival 2020 ) शनिवार से शुरू हो रहा है। सारी दुनिया में कोरोना फैलाने वाले चीन का यह समारोह पहले 13 से 22 जून तक होने वाला था। तब कोरोना के मामलों के कारण इसे टालना पड़ा। इन मामलों का ग्राफ गिरने के बाद वहां करीब सात महीने से बंद सिनेमाघर पिछले सोमवार से खुलने लगे थे। कुछ नए मामले सामने आने पर इन्हें फिर बंद करना पड़ा। अब शंघाई के कुछ सिनेमाघर शनिवार को खुलेंगे, जहां कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह की फिल्में दिखाई जाएंगी। कयास लगाए जा रहे थे कि चीन के साथ चल रही तनातनी को लेकर शायद भारत की इस समारोह में भागीदारी नहीं होगी, लेकिन राजनीतिक और राजनयिक तल्खी सांस्कृतिक मोर्चे पर महसूस नहीं हुई। सात अगस्त तक चलने वाले शंघाई अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह ( Shanghai International Film Festival 2020 ) में प्रकाश झा ( Prakash Jha ) की 'परीक्षा' ( Pareeksha ) , गौतम घोष ( Gautam Ghosh ) की 'राहगीर' ( Raahgir Movie ), अनुभव सिन्हा ( Anubhav Sinha ) की 'आर्टिकल 15' ( Article 15 Movie ) और अजय बहल ( Ajay Bahl ) की 'सेक्शन 375' ( Section 375 Movie ) समेत आठ भारतीय फिल्में दिखाई जाएंगी।

चीन के हुक्मरान भले भारत के सीमावर्ती इलाकों पर गिद्ध दृष्टि जमाए रखते हों, वहां की जनता भारतीय फिल्मों की दीवानी है। अब तो चीनी फिल्मकार भारतीय फिल्मों पर हाथ भी साफ करने लगे हैं। मोहनलाल की मलयालम फिल्म 'दृश्यम' (2013) ( Drishyam Movie ) की कहानी पर चीन में 'शीप विदाउट ए शेपर्ड' बन चुकी है। यह फिल्म पिछले साल दिसम्बर में वहां के सिनेमाघरों में उतारी गई थी, लेकिन कोरोना ने इसकी कमाई पर ग्रहण लगा दिया। पिछले सोमवार को सिनेमाघर खुलने के बाद कई शहरों में यही फिल्म दिखाई जा रही थी। चीन में आमिर खान, सलमान खान और अक्षय कुमार की फिल्में ज्यादा भीड़ खींचती हैं। भारत में 387 करोड़ रुपए का कारोबार करने वाली आमिर खान की 'दंगल' ने चीन में 1200 करोड़ रुपए की कमाई कर बॉलीवुड के ट्रेड पंडितों को चौंका दिया था। 'दंगल' बनाने वाले भी हैरान थे कि 'म्हारी छोरियां छोरों से कम है के' वाले ठेठ हरियाणवी अंदाज का जादू चीन में इस पैमाने पर कैसे चल गया।


आमिर खान की ही 'सीक्रेट सुपरस्टार' ( Secret Superstar Movie ) ने चीन में भारत से ज्यादा तहलका मचाया था। भारत में इसने 80 करोड़ रुपए कमाए थे, जबकि चीन में इसका कारोबार 760 करोड़ रुपए रहा। सलमान खान की 'बजरंगी भाईजान' ( Bajrangi BhaiJaan ) ने भी चीन में भारत से ज्यादा कमाई की। यानी आबादी के मामले में भारत से आगे गिना जाने वाला चीन भारतीय फिल्मों के लिए सोने की खान साबित हो रहा है।