इस स्टंट सीन में मरते-मरते बचे थे शशि कपूर, शूट पूरा होते ही खाई साथ काम ना करने की कसम

By: पवन राणा
| Published: 13 Mar 2018, 06:09 PM IST
इस स्टंट सीन में मरते-मरते बचे थे शशि कपूर, शूट पूरा होते ही खाई साथ काम ना करने की कसम
Shashi Kapoor in Suhaag

इस सीन में करीब 100 फीट की ऊंचाई पर शशि कपूर के हाथों में पसीने आने लगे, जिससे उन्हें अपनी जान का खतरा होने लगा था।

मशहूर डायरेक्टर मनमोहन देसाई बॉलीवुड में खतरनाक स्टंट के लिए भी जाने जाते थे। वहीं उन्होंने सबसे ज्यादा स्टंट शशि कपूर के साथ किए थे। हालांकि शशि कपूर कई बार खतरनाक स्टंट करने से परहेज करते थे लेकिन मनमोहन देसाई के साथ लगातार हुए कुछ वाकयों से वह काफी परेशान हो गए थे।

साल 1973 में रिलीज हुई फिल्म 'आ गले लग जा' में शशि कपूर को एक स्टंट करना था। डायरेक्टर मनमोहन देसाई चाहते थे कि शशि स्टंट में असली चाकू का इस्तेमाल करें लेकिन शशि कपूर ऐसा नहीं चाहते थे। इसी फिल्म में शशि कपूर से शीशे के साथ स्टंट कराया जाना था लेकिन उन्होंने मना कर दिया। बाद में जब शशि कपूर के बॉडीडबल ने वह स्टंट किया तो कांच टूट गया और बॉडीडबल के सिर में कांच के टूकड़े घुस गए थे।

इसके बाद साल 1979 में मनमोहन देसाई की फिल्‍म 'सुहाग’ आई। इस फिल्‍म के क्‍लाइमेक्‍स सीन की शूटिंग हो रही थी और एक्‍शन सीन शूट होना था। इसमें अमजद खान हेलीकॉप्‍टर से भागने की कोश‍िश कर रहे थे और शश‍ि-अमिताभ को उन्‍हें रोकना था। इसके लिए दोनों एक्‍टर्स को चॉपर के नीचे लटकना था। इस सीन में करीब 100 फीट की ऊंचाई पर शशि कपूर के हाथों में पसीने आने लगे, जिससे उन्हें अपनी जान का खतरा होने लगा था। शशि कपूर ने किसी तरह वह स्टंट पूरा किया और जब वापस लौटे तो उनकी आंखों में आंसू थे।

बाद में उन्‍होंने कहा, ‘मुझे तो लगा जैसे आज नहीं बचूंगा।’ जब मनमोहन देसाई उनके पास पहुंचे तो शश‍ि ने गुस्‍से में कहा, ‘तुम मुझे मार डालना चाहते हो, मैं आपके साथ अब कभी कोई एक्‍शन सीन नहीं करूंगा।’ बाद में शश‍ि कपूर ने यह भी अनाउंस कर दिया कि वो मनमोहन के साथ आगे कभी कोई फिल्‍म नहीं करेंगे।