रिया के खिलाफ कमेंट किया तो भड़की शिबानी दांडेकर, अंकिता लोखंडे को बताया पितृसत्ता की राजकुमारी

By: Mahendra Yadav
| Published: 10 Sep 2020, 06:35 PM IST
रिया के खिलाफ कमेंट किया तो भड़की शिबानी दांडेकर, अंकिता लोखंडे को बताया पितृसत्ता की राजकुमारी
रिया के खिलाफ कमेंट किया तो भड़की शिबानी दांडेकर, अंकिता लोखंडे को बताया पितृसत्ता की राजकुमारी

अंकिता लोखंडे द्वारा रिया चक्रवर्ती को फटकार लगाए जाने के बाद अभिनेत्री व वीजे शिबानी दांडेकर रिया के समर्थन में सामने आ गई हैं। शिबानी ने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी में अंकिता को पितृसत्ता की राजकुमारी कहा है। शिबानी ने लिखा, '(अंकिता) द्वारा लिखा गया एक विचित्र पत्र।

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को कथित तौर पर ड्रग का सेवन करने देने पर अंकिता लोखंडे द्वारा रिया चक्रवर्ती को फटकार लगाए जाने के बाद अभिनेत्री व वीजे शिबानी दांडेकर रिया के समर्थन में सामने आ गई हैं। शिबानी ने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी में अंकिता को पितृसत्ता की राजकुमारी कहा है। शिबानी ने लिखा, '(अंकिता) द्वारा लिखा गया एक विचित्र पत्र। पितृसत्ता की यह राजकुमारी, जो सुशांत के साथ अपने रिश्ते के मुद्दों को कभी नहीं निपटा पाई है, स्पष्ट रूप से वह अपनी दो सेकेंड की प्रसिद्धि चाहती है और इसके लिए रिया को लक्षित किया जा रहा है। उन्होंने आगे लिखा, उसने इस विच-हंट में एक प्रमुख भूमिका निभाई है और उसे बाहर बुलाया जाना है! साथ ही उसे अपना मुंह बंद करने की जरूरत है। बहुत हुआ अंकिता! तुमसे ज्यादा नफरत किसी के दिल (?) में नहीं होगा।

शिबानी का पोस्ट रिया के खिलाफ अंकिता की टिप्पणी के जवाब में था। अंकिता ने पोस्ट किया था, 'प्रिय नफरत करने वालो! चलिए, मान लेते हैं कि आपको अपने दोस्त के बारे में पता चल गया होगा और उसके जीवन और रिश्ते में क्या चल रहा होगा। ये भी पता होगा। खुशी है कि आप आखिरकार जाग गए, लेकिन मैं चाहती थी कि आप जल्दी जागें और अपने दोस्त को सुशांत द्वारा किसी भी तरह की नशीली दवाओं का सेवन करने का समर्थन नहीं करने की सलाह देते। वह सार्वजनिक रूप से यह कह रही है कि वह सुशांत की मानसिक स्थिति के बारे में अच्छी तरह से जानती थी कि वह अवसाद में है।

रिया के खिलाफ कमेंट किया तो भड़की शिबानी दांडेकर, अंकिता लोखंडे को बताया पितृसत्ता की राजकुमारी

अंकिता ने आगे लिखा, क्या उसे एक अवसादग्रस्त आदमी को ड्रग्स का सेवन करने देना चाहिए था? यह कैसी मदद है? किसी भी व्यक्ति की हालत इस स्तर तक बिगड़ सकती थी, जो एसएसआर द्वारा उठाए गए कदम के लिए मजबूर हो जाए। उस समय वह उनकी सबसे करीबी व्यक्ति थी। रिया को लेकर अन्य प्रश्न उठाते हुए अंकिता ने कहा, एक तरफ, वह कहती है कि वह एसएसआर के अनुरोध पर स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए सभी डॉक्टरों के साथ समन्वय कर रही थी, और दूसरी ओर, वह उसके लिए ड्रग खरीद रही थी। क्या कोई ऐसा व्यक्ति होगा, जो किसी को इतनी गहराई से प्यार करने का दावा करता है, दूसरी ओर उस व्यक्ति को उसकी मानसिक स्थिति जानने का दावा करने बावजूद ड्रग का सेवन करने की अनुमति देता है? आप ऐसा करेंगे? अंकिता ने कहा, मुझे नहीं लगता कि कोई भी ऐसा होगा। तो इसे लापरवाही और गैरजिम्मेदारी के कार्य के रूप में कैसे नहीं देखा जाए? उसके अनुसार, उसने सुशांत के परिवार को उसके चल रहे इलाज के बारे में सूचित किया था, लेकिन क्या उसने कभी उन्हें उसके ड्रग लेने के बारे में सूचित किया? मुझे यकीन है कि उसने ऐसा नहीं किया होगा, क्योंकि शायद वह खुद इसे लेने के मजे में होगी। ..और यही कारण है कि मुझे लगता है कि यह कर्म/भाग्य का फल है।