Nepotism पर श्रुति हासन बोलीं: माता-पिता की वजह से इंडस्ट्री में आसानी से हुई एंट्री लेकिन......

By: Mahendra Yadav
| Published: 28 Jul 2020, 06:13 PM IST
Nepotism पर श्रुति हासन बोलीं: माता-पिता की वजह से इंडस्ट्री में आसानी से हुई एंट्री लेकिन......
shruti Haasan

पिछले कुछ समय से बॉलीवुड में भाई—भतीजावाद (Nepotism) और गुटबाजी को लेकर बहस छिड़ी हुई है। इंडस्ट्री के कई लोग इस पर खुलकर बोल रहे हैं। इस लिस्ट में श्रुति हासन (Shruti Haasan) का भी नाम जुड़ गया है।

पिछले कुछ समय से बॉलीवुड में भाई—भतीजावाद (Nepotism) और गुटबाजी को लेकर बहस छिड़ी हुई है। इंडस्ट्री के कई लोग इस पर खुलकर बोल रहे हैं। इस लिस्ट में श्रुति हासन (Shruti Haasan) का भी नाम जुड़ गया है। हाल ही उन्होंने एक इंटरव्यू में नेपोटिज्म (Nepotism in Bollywood) को लेकर कहा कि इंडस्ट्री में टिके रहना मुश्किल काम है। उनका कहना है कि इंडस्ट्री में एंट्री करना आसान है। बता दें कि श्रुति साउथ के सपरस्टार कमल हासन और सारिका की बेटी हैं। श्रुति हासन इन दिनों अपनी आगामी फिल्म 'यारा' को लेकर सुर्खियों में हैं।

आसानी से खुल गए इंडस्ट्री के दरवाजे

श्रुति ने कहा,'मुझे यह स्वीकार करना होगा कि मेरे लिए इंडस्ट्री के दरवाजे आसानी से खुल गए। इसकी वजह थी मेरे माता-पिता, जिनके कारण मेरी एंट्री इंडस्ट्री में आसानीसे हो गई।' हालांकि उन्होंने कहा कि उन्हें कम्यूनिकेशन का सही तरीका नहीं पता था। न ही इस बात की समझ थी कि सही लोगों तक पहुंचने के लिए क्या करना है। उनका कहना है कि वास्तव में वह अभी भी सामाजिक रूप से अजीब हैं। उनके लिए नेविगेट करना आसान नहीं था। स्टारकिड के मुद्दे पर उन्होंने कहा,'मैं इस तथ्य को दूर नहीं करती हूं कि मैं विशेषाधिकार प्राप्त हूं, हालांकि कुल मिलाकर मैंने एक मुश्किल सफर किया है।'

Nepotism पर श्रुति हासन बोलीं: माता-पिता की वजह से इंडस्ट्री में आसानी से हुई एंट्री लेकिन......

टिकना आसान नहीं है

श्रुति ने आगे कहा,'मैं कहूंगी कि इंडस्ट्री में प्रवेश करना आसान था लेकिन अंदर रहना मुश्किल था।' श्रुति फिलहाल अपनी आगामी ओटीटी रिलीज 'यारा' को लेकर एक्साइटेड हैं। फिल्म में अमित साध, विजय वर्मा, विद्युत जमवाल भी मुख्य भूमिका में हैं। इस फिल्म की स्ट्रीमिंग जी 5 पर 30 जुलाई को होगी।

वहीं फिल्मकार तिग्मांशु धूलिया ने एक इंरव्यू में कहा कि गुटबाजी हर जगह है, बॉलीवुड में भी। उन्होंने कहा, 'अगर आप अच्छा काम करते हैं और उसे लोगों तक पहुंचाते हैं तो गुट बनाना बुरा नहीं है,
यदि आप आंख बंद कर ले और सिर्फ चुनिंदा लोगों के साथ ही काम करें तो नया टैलेंट कहां से मिलेगा।' इनके अलावा दिया मिर्जा, विजय वर्मा सहित कुछ अन्य सेलेब्स ने भी भाई—भतीजावाद और नेपोटिज्म पर अपने विचार रखे।