Sushant के निधन के बाद उनकी दरियादिली आई सामने, केरल और असम बाढ़ के बाद दान दिए थे करोड़ों रुपए

By: Sunita Adhikari
| Published: 17 Jun 2020, 04:27 PM IST
Sushant के निधन के बाद उनकी दरियादिली आई सामने, केरल और असम बाढ़ के बाद दान दिए थे करोड़ों रुपए
Sushant Singh Rajput donation Asam

  • सोशल मीडिया पर इस वक्त हर कोई Sushant Singh Rajput को याद कर रहा है। इसके साथ ही सुशांत ने जो नेक काम किए थे, उसके भी किस्से लोग सोशल मीडिया के जरिए शेयर कर रहे हैं।

नई दिल्ली: बीते रविवार को सुशांत सिंह राजपूत की निधन (Sushant Singh Rajput Death) की खबर ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। सोशल मीडिया पर इस वक्त हर कोई एक्टर को याद कर रहा है। इसके साथ ही सुशांत ने जो नेक काम किए थे, उसके भी किस्से लोग सोशल मीडिया के जरिए शेयर कर रहे हैं। ऐसा ही एक किस्सा था 2018 का है जब केरल में भयानक बाढ़ (Kerala Flood 2018) आई थी। इस बाढ़ से लाखों लोग प्रभावित हुए थे और कई लोगों की जान भी गई थी। ऐसे में एक शख्स ने इंस्टाग्राम पर लिखा था, ‘मेरे पास पैसे नहीं हैं लेकिन मैं कुछ खाने का सामान दान करना चाहता हूं। कैसे करूं।’

इसके बाद सुशांत सिंह राजपूत ने उस शख्स को रिप्लाई करते हुए कहा, मैं तुम्हारे नाम से 1 करोड़ रु. दान करता हूं। इसके बाद उन्होंने इसका स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए उस शख्स का उन्हें इस मौके को देने के लिए शुक्रिया भी किया। उन्होंने लिखा, ‘मेरे दोस्त जैसा तुम चाहते थे, मैंने वैसा कर दिया है। तुमने मुझसे यह काम करवाया, तो तुम खुद पर गर्व कर सकते हो। यह तुमने तब किया है जब इसकी बहुत जरूरत है। ढेर सारा प्यार।’

इसके अलावा उन्होंने 2018 में असम में आई बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए 1.25 करोड़ डोनेट (Sushant Singh Rajput Donation For Flood) किए थे। सुशांत के दुनिया से चले जाने के बाद राइटर-डायरेक्टर चारूदत्त आचार्य ने यह किस्सा सोशल मीडिया पर बताया। चारू के पिता पीबी आचार्य 2014-19 के बीच असम के गवर्नर थे।

View this post on Instagram

Director Charudutt Acharya REVEALS a secret about Sushant Singh Rajput that no one knew! Here's what he said "From 2014 to 2019, my father was the Governor of the state of Nagaland. In 2018, a massive flood had ravaged the state. The government of Nagaland had put out an appeal to all the citizens of the country to donate to the CM's Flood Relief Fund. At that time, Sushant was shooting in Delhi. He quietly came to Dimapur, the commercial capital of Nagaland, and handed over a cheque of 1.25 crores to the CM Neiphiu Rio. (pictures attached). There was no fanfare. There was no major publicity. (He had made a similar quiet donation of 1.25 crores to the Kerala CM's Fund too). Later, he called my father in Kohima and spoke quite warmly. My father thanked him for his kind and large hearted gesture and invited him to Kohima. Sushant expressed his desire to visit Kohima too. But the journey from Dimapur to Kohima is only by road and takes four hours. And in the flood situation, it could have taken much longer. And Sushant had to rush back to Delhi for his shoot. So he returned to Delhi from Dimapur itself, promising to visit Kohima and the rest of the state, someday soon. That never happened. And now, most unfortunately, will not happen ever. But the people of Nagaland and the Government of Nagaland will remember Sushant Singh Rajput for ever. Yeh hoti hai asli hero ki entry." #SushantSinghRajput #RIPSushant

A post shared by Pinkvilla (@pinkvilla) on

इसके साथ ही सुशांत ने केरल में बाढ़ प्रभावितों के लिए 1.25 करोड़ का दान दिया था। ऐसे में केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन (Pinarayi Vijayan Tweet) ने उनकी मौत के बाद उन्हें याद करते हुए कहा कि 'हम सुशांत सिंह राजपूत के निधन की खबर सुनकर बेहद दुखी हैं। उनके निधन से फिल्म इंडस्ट्री का नुकसान हुआ है। दुख की इस घड़ी में उनके परिवार, दोस्त और फैन्स के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। साथ ही केरल बाढ़ के समय उनकी मदद को भी याद करता हूं।'

आपको बता दें कि बीते रविवार सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई स्थित अपने घर पर फांसी लगाकर खुदकुशी (Sushant Singh Rajput Suicide) कर ली। वह पिछले 6 महीने से अपना डिप्रेशन का इलाज करवा रहे थे। हालांकि अभी पुलिस जांच कर रही है कि उन्हें आत्महत्या के लिए किसी ने उकसाया तो नहीं था।