Sushant Singh Rajput का अंतिम संस्कार कर पटना लौटे पिता, गंगा में प्रवाहित होंगी अस्थियां

By: Pratibha Tripathi
| Updated: 17 Jun 2020, 07:06 PM IST
Sushant Singh Rajput  का अंतिम संस्कार कर पटना लौटे पिता, गंगा में प्रवाहित होंगी अस्थियां
Sushant Singh Rajput Death Shraddhkarma at Patna

  • रविवार को मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput death) ने अपने फ्लैट में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी
  • बेटे के (Ashes To Be Immersed In Ganga)अस्थि कलश के साथ पिता केके सिंह पटना एयरपोर्ट से बाहर निकले

नई दिल्ली, सुशांत सिंह राजपूत (RIPSushant Singh Rajput) की मौत के बाद परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा, कलेजे पर पत्थर रख कर पिता ने अपने बेटे को अंतिम बिदाई दी। सोमवार को मुम्बई में अंतिम संस्कार के बाद पूरा परिवार बुधवार को पटना लौट गया। बेटे सुशांत की मौत से पिता के दिल पर वज्रपात हुआ जिससे पिता के.के. सिंह की हालत बिगड़ गई। जिस उम्र में बेटे बूढे पिता का सहारा बनते हैं उस उम्र में सुशांत के पिता अपने पुत्र का अस्थि कलश लेकर पटना एयरपोर्ट पर पहुंचे तो देखने वालों की आंखें नम हो गईं। विदित हो रविवार 14 जून को मुंबई स्थित अपने फ्लैट में सुशांत सिंह राजपूत ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। परिवार वाले सुशांत सिंह (Ashes To Be Immersed In Ganga) की अस्थियां गंगा में प्रवाहित करने के लिए अस्थि कलश पटना ले आये थे।

सुशान्त के पिता ने पुलिस को जो बयान दिया उसमें उन्होंने बेटे सुशान्त के अवसाद में होने की जानकारी होने से इनकार किया है। लेकिन पिता के.के. सिंह ने बीते कुछ अरसे से बेटे सुशांत के काफी लो महसूस करने के बात जरूर कही।

निधन पर सुशांत के 5 साल के भांजे की बात सुनकर हो जायेंगी आंखे नम

श्वेता कीर्ति सिंह यानी सुशान्त की बहन ने अपने फेसबुक पोस्ट पर लिखा कि, 'जब मैंने अपने 5 साल के बेटे को खबर सुनाई कि मामा अब नहीं रहे, तो उसने तीन बार एक ही बात कही, "लेकिन वह आपके दिल में जिंदा हैं।" एक पांच साल के बच्चे की इस तरह की सोच है, जब वह ऐसा कह सकता है, ऐसे में हम सभी को तो और भी मजबूत होना चाहिए। खासकर सुशांत सिंह राजपूत के फैंस को विशेष रूप से। कृपया समझें कि वह हमारे-आपके दिल में रहते हैं, और हमेशा रहेंगे। कृपया ऐसा कुछ भी ना करें जिससे उनकी आत्मा को दुख पहुंचे।

इससे पहले भी बहन श्वेता कीर्ति सिंह ने एक पोस्ट लिखा था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि 'रिस्पॉन्स न दे पाने के लिए मुझे माफ कीजिए। मैं मजबूत होने की कोशिश कर रही हूं। सहानुभूति के लिए आप सभी का शुक्रिया। इससे मुझे शक्ति मिल रही है। मेरे परिवार के लिए प्रार्थना करें।'