CINTAA NEWS: सुशांत सिंह नहीं लड़ेंगे अब सिंटा के चुनाव, अगले लीडर के लिए रास्ता साफ

By: Subodh Tripathi
| Published: 09 Jun 2020, 05:49 PM IST
CINTAA NEWS: सुशांत सिंह नहीं लड़ेंगे अब सिंटा के चुनाव, अगले लीडर के लिए रास्ता साफ
सुशांत सिंह

सुशांत सिंह अब नहीं लड़ेंगे सिंटा के चुनाव, अगले लीडर के लिए रास्ता साफ

टीवी और फिल्म इंडस्ट्री में अपनी बेहतरीन पहचान बनाने वाले एक्टर सुशांत सिंह ( sushant singh ) इंटरटेनमेंट जगत के सीने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन ( Chintaa ) के जनरल सेक्रेटरी पद को छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा यह सही समय है, नए लीडर के लिए रास्ता साफ करने और मेरे आगे बढ़ने के लिए, मेरा कार्यकाल 1 मई 2020 को ही खत्म हो चुका है और मैंने तय किया है कि मैं आगे चुनाव नहीं लड़ूंगा।

सिंटा ऐसा संगठन है जो फिल्म और टीवी इंडस्ट्री के लिए काफी महत्वपूर्ण है, इसके पास वह सब अधिकार रहते हैं जो टीवी और फिल्मी जगत के लिए जरूरत पड़ने पर अपनी आवाज उठा सके। आपको बता दें कि संशोधित नागरिकता कानून ( सीएएए) के मसले में सुशांत लगातार सरकार के विरोध में मुखर हुए थे । उन्होंने मुंबई में हुए विरोध प्रदर्शनों में भी अपना पक्ष रखा था।

जानकारी के अनुसार सुशांत सिंह मशहूर टीवी शो सावधान इंडिया में लीड एक्टर के रूप में कार्य कर रहे थे। लेकिन उन्हें बाद में निकाल दिया गया। इसकी वजह उन्होंने सीएए के खिलाफ आंदोलन में शामिल होना बताई थी। इस बात की जानकारी स्वयं सोशल मीडिया के माध्यम से दी थी ।

सुशांत सिंह ने वर्ष 2002 में राजकुमार संतोषी की फिल्म द लेजेंड ऑफ भगत सिंह में स्वतंत्रता सेनानी सुखदेव का किरदार निभाया था। फिल्म में अजय देवगन सरदार भगत सिंह के किरदार में थे। यह फिल्म दर्शकों द्वारा खूब पसंद की गई थी।

जानकारों की माने तो सीने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी सुशांत सिंह अपना पद छोड़ रहे हैं। क्योंकि उनका मानना है कि अभी संगठन को नए नेता की जरूरत है । चर्चा के दौरान बताया कि मेरा कार्यकाल 1 मई 2020 को समाप्त हो रहा है ।अब मैंने तय किया है कि मैं आगे चुनाव नहीं लड़ूंगा। क्योंकि कोरोना महामारी के चलते चुनाव भी आगे बढ़ा दिए गए हैं। इस कारण में केवल लॉक डाउन में राहत का इंतजार कर रहा था। ताकि ऑफिशियल औपचारिकताओं को पूरा करने में कोई अतिरिक्त दबाव नहीं आए। हालांकि सुशांत ने चुनाव नहीं लड़ने का क्या कारण है इस पर कोई खुलासा नहीं किया। उनका सिर्फ यही कहना है कि वे आगे बढ़ना चाहते हैं इसलिए वह चुनाव नहीं लड़ रहे हैं।