इस वजह से कादर खान ने छोड़ दिया था फिल्मों में विलेन बनना, यह थी उनकी पहली कॉमेडी फिल्म

By: Mahendra Yadav
| Updated: 03 Jan 2019, 05:39 PM IST
इस वजह से कादर खान ने छोड़ दिया था फिल्मों में विलेन बनना, यह थी उनकी पहली कॉमेडी फिल्म
kader khan

कादर खान ने लंबे वक्त तक फिल्मों में नकारात्मक किरदार निभाए

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता कादर खान अब इस दुनिया में नहीं हैं। बुधवार को कनाड़ा में उनका अंतिम संस्कार किया गया। बता दें कि न्यूईयर की पूर्व संध्या पर उनका निधन हो गया था। पिछले दिनों उनको सांस लेने में तकलीफ होने के बाद टोरंटो के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां उन्हें बाइपैप वेंटिलेटर पर रखा गया था। 31 दिसंबर की शाम 6 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। बता दें कि कादर खान एक महान एक्टर होने के साथ बेहतरीन संवाद लेखक भी थे। उन्होंने कई फिल्मों में डायलॉग लिखे और वे काफी फेमस भी हुए। 1970 और 1980 के दौरान कई फिल्मों को बेजोड़ बनाने में कादर खान का बहुत बड़ा हाथ रहा।

लंबे समय तक निभाए विलेन के रोल:
बता दें कि कादर खान ने लंबे वक्त तक फिल्मों में नकारात्मक किरदार निभाए। हालांकि बाद में उन्होंने ऐसे रोल करना बंद कर दिया और चरित्र भूमिकाएं और कॉमिक किरदार निभाए। विलेन के तौर पर कादर खान की गिनती टॉप अभिनेताओं में थी। फिर भी उन्होंने इसे छोड़ने का फैसला किया। इसके पीछे भी कारण हैं।

 

इस वजह से कादर खान छोड़ दिया फिल्मों में विलेन बनना, यह थी उनकी पहली कॉमेडी फिल्म

इस वजह से छोड़े नकारात्मक किरदार:
एक इंटरव्यू में कादर खान ने नकारात्मक रोल छोड़ने के पीछे की वजहें भी बताई थी। उन्होंने कहा था, 'जब बच्चे स्कूल से आते थे तो कभी उनकी नाक के पास खून बह रहा होता था, कभी मुंह पर सूजन आई हुई होती थी। वो रो कर कहते थे कि स्कूल में बच्चे चिढ़ाते हैं कि तेरा बाप पूरी फिल्म में तो शेखी मारता है, लेकिन आखिर में तो मार खाता है। जब मैंने देखा कि मेरे रोल की वजह से बच्चों की जिंदगी में दिक्कत आ रही है तो मैंने ऐसे किरदार नहीं करने का फैसला लिया।

 

 

इस वजह से कादर खान छोड़ दिया फिल्मों में विलेन बनना, यह थी उनकी पहली कॉमेडी फिल्म

कादर खान की पहली कॉमेडी फिल्म:
कादर खान ने पहली बार फिल्म 'हिम्मतवाला' में कॉमेडी की थी। इस फिल्म के किस्से के बारे बताते हुए उन्होंने कहा था, 'उन्हीं दिनों में मद्रास की एक फिल्म 'हिम्मवाला' (जितेंद्र) मेरे पास आई। फिल्म मैंने लिखी। वो प्रोड्यूसर को बेहद पसंद आई। मैंने उस फिल्म में पहली बार कॉमेडी की। उस फिल्म ने पूरे हिंदुस्तान में धमाल मचा दिया. पहले तो हर जगह हीरो और हीरोइन के बैनर लगे थे, लेकिन एक हफ्ते बाद वो बैनर उतरने लगे और मेरे बैनर लग गए। यहीं से मेरी कॉमेडी का सफर शुरू हुआ।'

Show More