फिल्मों के बाद अब दाऊद पर वेब सीरीज, मुजरिमों का महिमा मंडन

By: पवन राणा
| Published: 23 May 2020, 06:56 PM IST
फिल्मों के बाद अब दाऊद पर वेब सीरीज, मुजरिमों का महिमा मंडन
फिल्मों के बाद अब दाऊद पर वेब सीरीज, मुजरिमों का महिमा मंडन

अंडरवर्ल्ड के काले कारनामों पर कुछ फिल्म वाले इतने फिदा हैं कि वे इसी उधेड़बुन में रहते हैं कि कब कोई नई जमीन मिले, जिस पर दाऊद का महिमा मंडन करती एक और फिल्म खड़ी की जा सके।

-दिनेश ठाकुर
करीब चार साल पहले दिल्ली पुलिस की तरफ से फोन कॉल में सेंध (इंटरसेप्ट) लगाने के बाद मोस्ट वांटेड डॉन दाऊद इब्राहिम भारतीय खुफिया एजेंसियों से इतना डरा हुआ है कि उसने फोन पर बातचीत बंद कर रखी है, लेकिन हिन्दी फिल्मों में उसका किरदार रह-रहकर शोर मचा रहा है। मुम्बई बम धमाकों के बाद 27 साल से फरार इस अभियुक्त पर अब तक करीब दस फिल्में बन चुकी हैं।

निखिल आडवाणी की 'डी डे' (2013) में ऋषि कपूर ने उसका किरदार अदा किया तो रामगोपाल वर्मा की 'डी' में रणदीप हुड्डा (2005) और विश्राम सावंत की 'रिस्क' में विनोद खन्ना ने। दाऊद की बहन पर भी 'हसीना पारकर' (2017) नाम से फिल्म बन चुकी है, जिसमें श्रद्धा कपूर ने यह किरदार अदा किया था। अंडरवर्ल्ड के काले कारनामों पर कुछ फिल्म वाले इतने फिदा हैं कि वे इसी उधेड़बुन में रहते हैं कि कब कोई नई जमीन मिले, जिस पर दाऊद का महिमा मंडन करती एक और फिल्म खड़ी की जा सके। डाकुओं की फिल्मों में उनको रॉबिनहुड के तौर पर पेश किया जाता है, अंडरवल्र्ड की फिल्मों में भी वही तर्ज अपनाई जा रही है।

अब निर्देशक शुजात सौदागर (रॉक ऑन 2) वेब सीरीज 'डोंगरी टू दुबई' बना रहे हैं, जो हुसैन जैदी की इसी नाम की किताब पर आधारित होगी। दस कडिय़ों वाली इस सीरीज में दाऊद का किरदार अविनाश तिवारी अदा कर रहे हैं, जबकि बाकी कलाकारों में के. के. मेनन, अमायरा दस्तूर, अंगीरा धार, प्राची शाह वगैरह शामिल हैं। इसमें दाऊद का मुम्बई की डोंगरी बस्ती से दुबई तक का सफर दिखाया जाएगा।

हुसैन जैदी की ही एक दूसरी किताब पर 2004 में बनी अनुराग कश्यप की 'ब्लैक फ्राइडे' को जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा था। बॉम्बे हाईकोर्ट ने इसके प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी। तीन साल बाद 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए सिनेमाघरों का रास्ता खोला। यह फिल्म मुम्बई बम कांड की जांच-पड़ताल के बारे में है। इसके खिलाफ मोर्चाबंदी को ध्यान में रखते हुए ही शायद 'डोंगरी टू दुबई' पर फिल्म के बजाय वेब सीरीज तैयार की जा रही है। इसे ओटीटी प्लेटफॉर्म पर उतारा जाएगा, जो प्रसारण के मामले में किसी भी तरह के बंधन से आजाद हैं।