बड़े स्टार्स की तुलना में नए स्टार्स के साथ काम करना आजादी जैसा: विशाल भारद्वाज
Mahendra Yadav
Publish: Aug, 31 2018 05:12:51 (IST)
बड़े स्टार्स की तुलना में नए स्टार्स के साथ काम करना आजादी जैसा: विशाल भारद्वाज

बड़े स्टार्स की तुलना में नए कलाकार के साथ काम करना ऐसा है जैसे गुलामी से आजादी मिल गई हो

बॉलीवुड के जाने माने फिल्मकार विशाल भारद्वाज का कहना है कि नए कलाकार सेट पर काफी उत्साह और दमखम लेकर आते हैं और कमिटमेंट के साथ शूट करते हैं। विशाल भारद्वाज इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म 'पटाखा' के प्रमोशन में व्यस्त हैं। विशाल ने यह फिल्म नए स्टार राधिका मदान, सुनील ग्रोवर और सान्या मल्होत्रा के साथ बनाई है।

इसलिए चुना नए कलाकारों को:
विशाल से जब यह पूछा गया कि उन्होंने अपनी इस फिल्म में नए कलाकारों को ही क्यों चुना तो विशाल भारद्वाज ने कहा कि नए स्टार्स सेट पर काफी उत्साह और दमखम के साथ आते हैं और पूरे कमिटमेंट के साथ शूट करते हैं। जबकि बालीवुड के सुपरस्टार्स के साथ ऐसा नहीं होता। उन्होंने कहा, 'एक बार मैं और मणिरत्नम बात कर रहे थे तो वह भी यही कह रहे थे कि बड़े स्टार्स की तुलना में नए कलाकार के साथ काम करना ऐसा है जैसे गुलामी से आजादी मिल गई हो। मुझे भी उनकी बात बहुत जंची क्योंकि मुझे याद है जब शुरुआती दिनों में जब हम नए कलाकारों के साथ काम करते थे तो इतना अच्छा काम होता था कि हमें भी सेट पर जाने की जल्दी होती थी, लेकिन अब जब आप बड़े स्टार्स के साथ काम करते है तो आपको इतनी आजादी नहीं होती।'

 

बड़े स्टार्स की तुलना में नए स्टार्स के साथ काम करना आजादी जैसा: विशाल भारद्वाज

सान्या और राधिका की बॉन्डिंग मजबूत:
विशाल भारद्वाज ने कहा,'इस फिल्म की स्क्रिप्ट को देखते हुए मैंने शुरू से ही यह बात स्पष्ट कर दी थी था कि इस फिल्म की कास्टिंग में मुझे नए कलाकार चाहिए जो पूरी संजीदगी के साथ काम कर सकें। सान्या और राधिका की आपसी बॉन्डिंग भी इतनी मजबूत थी कि उसका असर सेट पर नजर आया। हालांकि कई बार तो अभिनेत्रियां सेट पर आपस में ही झगड़ती हैं या फिर उनमें कोल्डवार चलता है।' यह फिल्म 'पटाखा' 28 सितंबर को रिलीज होगी।