घोटालेबाजों पर योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, सात बैंक मैनेजर समेत 13 निलंबित

scholarship scam में सहकारी बैंक के प्रबंधन ने सात शाखा प्रबंधक समेत 13 लोगों को निलंबित कर दिया है।

बदायूं। जिल में हुए करीब ढाई करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले Scholarship scam में अब गाज गिरना शुरू हो गई है। इस घोटाले में फंसी सहकारी बैंक के प्रबंधन ने सात शाखा प्रबंधक समेत 13 लोगों को निलंबित कर दिया है। इस घोटाले में 64 अफसर,कर्मचारी और मदरसा संचालक शामिल हैं। घोटाले में स्कूल प्रबंधकों के साथ ही अल्पसंख्यक कल्याण, दिव्यांगजन सशक्तिकरण, प्रोबेशन विभाग, जिला सहकारी बैंक के प्रबंधक, अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं। इन सब पर पहले ही मुकदमा दर्ज किया जा चुका है और अब जांच के बाद सहकारी बैंक के शाखा प्रबंधक और कर्मचारियों को निलंबित किया गया है।

ये भी पढ़ें

छात्रवृत्ति में ढाई करोड़ का घोटाला,64 पर केस दर्ज

इन पर गिरी गाज

इस मामले scholarship scam में सात शाखा प्रबंधक, पांच लेखाधिकारी और एक सचिव को निलंबित किया गया है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुमनवीर सिंह ने शाखा प्रबंधक बिल्सी कमलेश वर्मा, शाखा प्रबंधक बबराला कुनाल, शाखा प्रबंधक जुनावई नरेंद्र कुमार दुबे, शाखा प्रबंधक इस्लाम नगर रोहित कुमार सिंह, शाखा प्रबंधक वजीरगंज सतेंद्र बहादुर, शाखा प्रबंधक रजपुरा विष्णु कुमार, शाखा प्रबंधक बिनावर अमित कुमार, मुख्यालय लेखा प्रवेश पटेल, लेखा अनुभाग के सुजात उल्ला खान, सचिव समरेर महावीर प्रसाद, आसफपुर के देवजीत सिंह, अलापुर के कैशियर सुशील मिश्रा और मुख्यालय लेखा अनुभाग के पुष्पेंद्र कुमार को निलंबित किया है।

ये भी पढ़ें

झोलाछापों पर कार्रवाई शुरू, 47 पर दर्ज हुआ मुकदमा

बीजेपी विधायक ने की शिकायत

वर्ष 2009-10 और 2017-18 में राज्य सरकार ने जिले के छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति दी थी। प्रदेश में भाजपा की सरकार आने पर शेखूपुर के भाजपा विधायक धर्मेंद्र शाक्य ने छात्रवृत्ति में घोटाले scholarship scam की शिकायत की थी। शिकायत मिलने पर संयुक्त आयुक्त और संयुक्त निबंधक सहकारिता बरेली ने जांच कमेटी गठित कर जांच के आदेश दिए थे। जांच में पाया गया कि स्कूल और मदरसों के प्रबंधकों ने विभिन्न विभागों की मिलीभगत से सहकारी बैंक की शाखाओं के मैनेजरों की मदद से करीब ढाई करोड़ रूपये का घोटाला किया है इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी गई थी।

Show More
jitendra verma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned