पुलिस की सरपस्ती में आरोपी थाने में करता दिखा काम, देखें वीडियो

पुलिस की सरपस्ती में आरोपी थाने में करता दिखा काम, देखें वीडियो

Amit Sharma | Publish: Sep, 05 2018 02:39:56 PM (IST) Budaun, Uttar Pradesh, India

पुलिस की सरपस्ती में आरोपी थाने में करता दिखा काम, देखें वीडियो

बदायूं। उत्तर प्‌रदेश में हमेशा पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठते रहे हैं। करीब एक महीने पहले शराब की दुकान पर दो छात्र गुटों में दिनदहाड़े हुई फायरिंग के मामले में भी पुलिस की नाकामी सामने आ रही है। इस मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद भी पुलिस कार्रवाई करने से बचती रही किरकिरी होने पर एसएसपी ने इस मामले में लापरवाही बरतने के कारण इंस्पेक्टर को हटा दिया था। इसके बाद भी पुलिसकर्मी नहीं सुधरे। दबाव पड़ने पर आरोपी को गिरफ्तर तो कर लिया लेकिन वह जेल नहीं भेजा गया। आऱोपी थाने में पुलिस की सरपरस्ती में काम करता दिखा।

पुलिस के सामने ही आरोपी करता रहा काम

आरोपी को थाना सिविल लाइन गया है। जहां पर उससे थाने के अंदर काम कराया जाता रहा। कुर्सियों को थाना परिसर में बैठने के लिए डालता हुआ दिखता है और कुर्सियों को भी साफ करता हुआ दिखता है जबकि वहां पर खड़े दरोगा और पुलिसकर्मी देखते रहे।

एक थानाध्यक्ष हटाए जा चुके हैं

बताते चलें कि करीब एक महीने पहले बदायूं में बाइकर्स गैंग ने एक शराब की दुकान/मॉडल शॉप पर दिनदहाड़े फायरिंग और तोड़फोड़ की और फरार हो गए। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से इलाके में हड़कम्प मच गया था। मॉडल शॉप पर फायरिंग करने के बाद ईंट और डंडों से दुकान का शीशा तोड़ दिया था। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों छात्र गुट मौके से फरार हो गए थे। यह पूरी वारदात दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी थी। इसी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर छात्र गुटों की तलाश में पुलिस जुट गई थी। यह दोनों गुट पिछले काफी दिनों से बाइकर्स गैंग के नाम से आतंक फैलाये हुए थे। इस घटना में छह नामजद सहित 15-20 अज्ञात में आरोपी पुलिस ने बनाये थे। इस मामले में पूर्व थानाध्यक्ष देवेश कुमार कुछ छात्रों को राजनीतिक शरण के कारण बचाने में जुटे थे और कार्रवाई भी नहीं कर रहे थे। जिसके बाद एसएसपी ने देवेश को हटा दिया और नए थानाध्यक्ष को चार्ज दिया लेकिन नए थानाध्यक्ष की भी आरोपियों पर कृपा दिखी।

Ad Block is Banned