बदायूं गैंगरेप: लापरवाही बरतने पर एसएचओ निलंबित, दो आरोपी गिरफ्तार

Highlights:

-50 वर्षीय आंगनबाड़ी सहायिका के साथ दरिंदगी कर हत्या का मामला

-पुलिस ने तीन लोगों को नामजद कर केस दर्ज किया

By: Rahul Chauhan

Published: 06 Jan 2021, 02:09 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

बदायूं। 50 वर्षीय आंगनबाड़ी सहायिका के साथ दरिंदगी और हत्या मामले में कड़ा एक्शन लिया गया है। पुलिस ने जहां मामले के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है तो वहीं एसएसपी ने लापरवाही बरतने पर एसएचओ को निलंबित कर दिया है। दरअसल, उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव की की रहने वाली 50 वर्षीय महिला पास के गांव स्थित एक मंदिर में रविवार को पूजा करने गई थी। इस दौरान तीन लोगों ने उसके साथ दरिंदी की। जिससे उसकी मौत हो गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि गैंगरेप के दौरान महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड जैसी कोई चीज डाली गई, जिससे अंदरूनी हिस्सा तक फट गया। उसकी बाईं सातवीं पसली भी टूटी मिली। वहीं महिला का बायां फेफड़ा भी फटा हुआ था और बायां पैर टूटा हुआ मिला है।

यह भी पढ़ें: बदायूं: महिला के साथ निर्भया जैसी दरिंदगी, गैंगरेप के बाद गुप्तांग में रॉड डाली, पैर और पसली भी तोड़ी

इस मामले में पीड़िता के परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों के मुताबिक रविवार शाम महिला धर्मस्थल पर पहुंची थी और करीब सात घंटे बाद यानी रात 12 बजे पुजारी सत्यनारायण दास, वेदराम और यशपाल उसे अर्द्धनग्न अवस्था में उसे घर के बाहर फेंककर चले गए। महिला के प्राइवेट पार्ट से बहुत खून बह रहा था और उसका एक पैर भी टूटा हुआ था। इसकी जानकारी परिजनों ने तुरंत पुलिस को दी। आरोप है कि पुलिस सूचना के बाद भी सोमवार दोपहर तक मौके पर नहीं पहुंची और लापरवाही दिखाते हुए मंगलवार दोपहर बाद महिला के शव का पोस्टमार्टम कराया गया। साथ ही पुलिस ने गैंगरेप के मामले को रेप की धारओं में दर्ज किया था।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned