प्रवासी मजदूरों को खाना खिलाने पर चौकी इंचार्ज ने बसपा नेता को भेजा नोटिस तो SSP ने दिखाया बाहर का रास्ता

  • पूर्व विधायक पर जानबूझकर प्रवासी भीड़ को भोजन का लालच देकर इकट्ठा करने का लगाया आरोप

By: Iftekhar

Published: 16 May 2020, 10:50 AM IST

बुलंदशहर. परेशान और भोजन के लिए बिलख रहे प्रवासी मजदूरों को खाना खिलाने पर सपा-बसपा के पूर्व विधायक को भेजा गया पुलिस का नोटिस चर्चा का विषय बन गया है। दरअसल, पुलिस ने पूर्व विधायक गुड्डू पंडित के आवास पर एक नोटिस चस्पा किया है। इसमें पुलिस ने पूर्व विधायक पर जानबूझकर प्रवासी मजदूरों के भीड़ को भोजन का लालच देकर इकट्ठा करने का आरोप लगाया है। पूर्व विधायक के इस कृत्य को पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन मानते हुए कार्रवाई की चेतावनी दी है।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के बीच बदमाशों ने बाइक सवार युवक की हत्या कर शव खेत में फेंका

आपको बता दें पूर्व विधायक गुड्डू पंडित लॉकडाउन के दरम्यान प्रवासी मजदूरों को अपने आवास पर रोककर उनकी मदद करने के साथ ही उनके लिए भोजन पानी की व्यवस्था करवा रहे हैं। इसके साथ ही वे परेशान हाल प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचवा भी रहे हैं। साथ ही मदद का फ़ोटो औऱ वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर प्रशासन की व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- प्रवासी मजदूरों के साथ शहरों का कोरोना गांव-गांव तक पहुंचा, मुम्बई से लौटा शख्स मिला कोरोना पॉजिटिव

पुलिस की इस कार्रवाई से आहत पूर्व विधायक और बसपा नेता गुड्डू पंडित ने कहा कि सत्ता पक्ष को खुश करने के लिए पुलिस ने उनके आवास एक नोटिस चस्पा कर कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने इसे सियासत और दबाव बताते हुए कहा कि मजदूरों के लिए सब ने दरवाजा बंद किया हुआ है। ऐसे वक्त में यह कार्रवाई कर यह संकेत दिया जा रहा है कि वे भी मजदूरों के लिए दरवाजा बंद कर लें। उनका कसूर सिर्फ इतना है कि वह सामने आकर प्रवासी मजदूरों की मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस को जो कार्रवाई करनी हो, वह कर लें, लेकिन हम आगे भी प्रवासी और परेशान मजदूरों की करते रहेंगे। आपको बता दें कि पूर्व विधायक ने पुलिस के नोटिस को सोशल मीडिया पर वायरल कर खुद को गरीबों का रहनुमा बताने की कोशिश भी की है। वहीं, थाने में सैकड़ों की भीड़ के साथ भाजपा विधायक अनिता लोधी के लॉकडाउन उल्लंघन का जिक्र करते हुए पूर्व विधायक ने पुलिस प्रशासन पर गम्भीर आरोप लगाए हैं।

वहीं, इस पूरे मामले में सएसपी अन्तोष कुमार सिंह ने कहा कि सोशल मीडिया पर पुलिस के नोटिस को गलत ढंग से प्रचारित प्रसारित किया जा रहा है। पूर्व विधायक प्रवासी मजदूरों को भोजन का लालच देकर उनको अपने आवास पर बुलवाते थे और एमडीएस के नाम पर लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे थे। पूर्व विधायक पर लॉक डाउन उल्लंघन में पांच मुकदमे दर्ज किए गए है। चौकी इंचार्ज को भी सस्पेंड कर दिया गया है।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned