Administration किसानों को 2 हजार रुपये और आधार कार्ड जमा करने पर सौंपेगा प्रदूषण रोकने वाली मशीन

Highlights

. बढ़ते प्रदूषण की वजह से जिला प्रशासन ने उठाया कदम
. पराली नष्ट करने के लिए किसानों को दी जाएगी मशीन
. पराली नष्ट होने के बाद खेत की उर्वरा शक्ति को भी मिलेगा फायदा

 

By: virendra sharma

Updated: 27 Nov 2019, 01:08 PM IST

बुलंदशहर। बढ़ते प्रदूषण की वजह से दिल्ली-एनसीआर में लोगों को काफी परेशानियां झेलनी पड़ रही हैं। इसका प्रभाव पेड़-पौधों से लेकर जीव-जंतुओं तक भी पड़ रहा है। एनजीटी पूरे मामले में मॉनिटरिंग कर रही है। उधर, जिला प्रशासन भी प्रदूषण फैलाने वालों पर जुर्माना लगा रहा है।

प्रदूषण रोकने के लिए सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि अनुसंधान केंद्र को पांच कृषि यंत्र भेजे गए हैं। यह कृषि यंत्र प्रदूषण रोकने के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। इसके लिए किसानों को जागरुक किया जा रहा हैं। इन मशीनों का इस्तेमाल करना भी आसान है। दरअसल, किसानों को पराली जलाने की आवश्यकता नहीं होगी। उनके खेत की उर्वरा शक्ति भी बनी रहेगी।

यह भी पढ़ें: कायाकल्प योजना में बड़ा गड़बड़झाला, 1 साल से अधिक का समय बीतने के बाद भी बच्चेे प्यासे

कृषि वैज्ञानिक विवेक राज ने बताया कि सरकार ने 5 मशीन दी है, जिससे किसानों को पराली जलाने की जरूरत नहीं होगी। मशीनों के जरिये पराली का खाद बनाया जा सकता है। कृषि केंद्र से मशीन किराए पर दी जाती है। इसके एवज में किसान को सिक्योरिटी के तौर पर ₹2000 और आधार कार्ड लिया जाता है।

virendra sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned