एक साथ पांच चिताएं जलती देख हर आंख हुई नम, किसी भी घर में नहीं जला चूल्हा

Highlights

- गांव जीतगढ़ी में जहरीली शराब से पांच लोगों की मौत का मामला

- पोस्टमार्टम के बाद गांव में शव पहुंचते ही मचा हाहाकर

- गमगीन माहौल में एक साथ किया गया पांच मृतकोंं का अंतिम संस्कार

By: lokesh verma

Published: 09 Jan 2021, 04:27 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
बुलंदशहर.
कोतवाली सिकंदराबाद क्षेत्र के गांव जीतगढ़ी में शुक्रवार रात एक साथ पांच चिताओं को जलता देख हर किसी का दिल दहल उठा। एक साथ पांच लोगाें मौतों से हर आंख में आसूं थे। वहीं गांव में मातम पसरा था, किसी के घर चूल्हा तक नहीं जला था। सभी की आंखों में आसुंओं के साथ गम और गुस्सा साफ दिखाई दे रहा था। कोई मृतक के परिजनों को ढांढस बंधा रहा था तो कोई उनके गम में गुमसुम बैठा था। कुछ यही हाल था गांव जीतगढ़ी में शुक्रवार रात के समय।

यह भी पढ़ें- सर्वे करने के बहाने दो महिलाओं ने किया दस साल के बच्चे का अपहरण

बता दें कि शुक्रवार को जीतगढ़ी गांव के रहने वाले सतीश, कलुआ, सरजीत, सुखपाल, पन्नालाल की मौत जहरीली शराब पीने से से हो गई थी, जिसके बाद गांव मातम छा गया। शुक्रवार शाम पांच बजे पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही मृतकों के शव गांव में पहुंचे तो परिवारों में कोहराम मच गया। हर तरफ बस चीख-चित्कार मची थी। घटना सूचना के बाद गांव पहुंचे क्षेत्र के लोगों की आंखें भी यह नजारा देख नम हो गईं। बड़ी संख्या में लोग मृतकों के घर पहुंचे, जिसके के बाद सभी मृतकों की अर्थियां एक साथ उठाई गईं।

शवों के पहुंचते ही अंतिम संस्कार की क्रिया शुरू कर दी गई थी। पांचों मृतकों की अंंत्येष्टि में सैकड़ों लोग शामिल हुए। गांव के श्मशान घाट में एक साथ पांचों चिताओं को मुखाग्नि दी गई। यह नजारा देख हर किसी का दिल दहल उठा। हर किसी की आंखों में आसुंओं के साथ गुस्सा भरा था। तनाव भरे माहौल को देखते हुए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ भारी संख्या में पुलिस फोर्स मौके पर तैनात थी।

यह भी पढ़ें- पूर्वांचल में पक्षियों की मौत बनी संदेह, आसमान से अचानक मर कर गिरने लगे कौवों की मौत से स्वास्थ्य महकमा अलर्ट, बर्ड फ्लू का भय

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned