माली के परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप तो अधिकारियों ने सौंपे पांच लाख, जानिए क्या है पूरा मामला

Highlights:

-परिजनों ने बिजली विभाग के अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए शव रखकर प्रदर्शन किया

-एडीएम और बिजली विभाग के अधिकारियों ने 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का आश्वासन दिया

-जिसके बाद मृतक के परिजन धरना प्रदर्शन समाप्त कर शव को लेकर गए

बुलंदशहर। एक माली की बिजली के तार जोड़ने के दौरान करंट लगने से मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों ने बिजली विभाग के अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए शव रखकर प्रदर्शन किया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे एडीएम और बिजली विभाग के अधिकारियों ने परिजनों को 5लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने और दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। जिसके बाद मृतक के परिजन धरना प्रदर्शन समाप्त कर शव को लेकर गए।

यह भी पढ़ें : जानिए, सुप्रीम कोर्ट ने क्यों कहा, 'उत्तर प्रदेश सरकार से हम तंग आ चुके हैं, ऐसा लगता है यूपी में जंगलराज है'

दरअसल, मामला बुलन्दशहर जनपद के शिकारपुर बिजली घर का है। मृतक सोनू शिकारपुर विद्युत सब स्टेशन पर माली का कार्य करता था। परिजनों का आरोप है कि विधुत सब स्टेशन अधिकारी माली से बिजली सही कराने का कार्य जबरन कराते थे। जिसके कारण करंट लगने से सोनू (30 वर्षीय) चार दिन पहले झुलस गया। उसको गंभीर अवस्था में अस्पताल में रहने के बाद उसने दम तोड़ दिया।

यह भी पढ़ें: डीजल को लेकर हुआ ऐसा खुलासा, हर कोई रह गया हैरान, देखें वीडियो

गुस्साए परिजनों ने शहर के मुख्य चौराहे काले आम पर उसका शव रखकर प्रदर्शन किया और बिजली विभाग के साथ-साथ शासन-प्रशासन से उसके परिवार को नौकरी देने। दस लाख का मुआवजा देने व बच्चो को शिक्षा दिलाने की मांग की। मौके पर मृतक के परिवार को 5लाख की आर्थिक धनराशि का चेक देकर विद्युत विभाग के सभी अधिकारियों को मौके पर बुलाकर आश्वस्त किया गया कि दोषी लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी और उनके विरुद्ध एफआईआर भी की जाएगी जिसके बाद परिजनो ने शव को लेकर रवाना हुए और उन्होंने जाम प्रदर्शन को समाप्त किया।

Rahul Chauhan
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned