हादसा: रामघाट गंगा पुल पर कांवड़ियों में मची भगदड़ 50 से अधिक घायल

Highlights

- संकरे पुलों पर भीड़ बढ़ने से हुआ हादसा

- सैकड़ों कांवड़ खंडित होने पर कांवड़ियों का हंगामा

- जूते-चप्पल छोड़ बचाव के लिए भागे कांवड़िए

By: lokesh verma

Published: 11 Mar 2021, 10:41 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
बुलंदशहर. महाशिवरात्रि के मौके पर रामघाट गंगा से जल भरकर लौट रहे कांवडियों की भीड़ संकरे पुल पर बढ़ने से भगदड़ मच गई। इस भगदड़ में नीचे गिरकर 50 से अधिक कांवड़िए घायल हो गए। हादसा अत्यधिक भीड़ के चलते आपस में टकराने और अफरा-तफरी से हुआ। इस हादसे में सौ से ज्यादा कांवड़ खंडित होने से क्षुब्ध कांवड़ियों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। हालांकि मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने स्थिति को संभाला और कांवडियों की भीड़ को कंट्रोल किया। घायल होने वाले कांवड़ियों में बुजुर्ग और बच्चे अधिक हैं, जो नीचे गिरे और वहीं फंसकर रह गए थे। सैकड़ों लोगों के जूते-चप्पल वहीं छूट गए। कांवड़ियों के बीच भगदड़ की सूचना पर जिलाधिकारी, एसएसपी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और कई घंटे की मशक्कत के बाद व्यवस्था बनाई।

यह भी पढ़ें- Mahashivratri आज जपेंगे शिव के ये मंत्र तो पूरे साल नहीं आएगी कोई विपदा, सभी कष्ट होंगे दूर

बता दें कि महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में रामघाट गंगा घाट पर प्रत्येक वर्ष करीब आठ लाख श्रद्धालु पहुंचते हैं, लेकिन इस वर्ष यह संख्या 10 लाख पार कर गई। बुधवार को देर रात राजस्थान, मथुरा, वृंदावन, अलीगढ़, हाथरस और आगरा आदि क्षेत्रों से कांवड़ियों के जत्थे जल भरने गंगा घाट पर पहुंचने लगे। जल भरने के बाद गंतव्य की तरफ रवाना होने व दूसरी तरफ से जल लेने वालों के आने के दौरान रामघाट के एलजीसी व पीएलजीसी नहरों के संकरे पुल पर दोनों तरफ कावंडिय़ों की भीड़ लग गई। पुलों पर अत्याधिक भीड़ हो जाने के कारण श्रद्धालुओं की कांवड़ आपस में टकराकर खंडित होना शुरू हो गईं। पुल पर भगदड़ मच गई। कई कांवड़िये और आम लोग सड़क पर गिर गए। भगदड़ के दौरान कुछ पैरों तले भी दबे। इस दौरान पुलिस बेबस नजर आई।

हालात बिगड़ते देख जिलाधिकारी रविंद्र कुमार, एसएसपी संतोष कुमार सिंह, एसपी सिटी, एसडीएम डिबाई, सीओ शिकारपुर कई थानों की पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और कांवड़ियों को समझाते हुए व्यवस्था बनानी शुरू की। एसएसपी ने रामघाट गंगा तट पर श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए रामघाट तिराहे पर बैरिकेटिंग कराई।

यह भी पढ़ें- Mahashivratri: औघड़नाथ और पुरा महादेव मंदिर में गूंजे बोल बम के जयकारे, सुबह से लगी श्रद्धालुओं की कतारें

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned