तीन तलाक व हलाला के खिलाफ याचिका दायर करने वाली डॉ. समीना पर हुए एसिड अटैक का मामला संदिग्ध

17 अक्टूबर को बुलंदशहर से राहुल गांधी के घर तक तीन तलाक पीड़िताओं के समर्थन में निकालने वाली थी रैली।

 

By:

Published: 15 Oct 2018, 03:11 PM IST

बुलंदशहर। तीन तलाक और हलाला के खिलाफ याचिका दायर करने वाली डॉक्टर समीना अब अपने ही बुने जाल में फंस गई हैं। रविवार को समीना ने आरोप लगाया था कि उसके ऊपर कुछ लोगों ने एसिड अटैक किया है, जबकि पुलिस ने इस घटना को फर्जी करार देते हुए उसका सहयोग करने वाले दो युवकों को भी हिरासत में लिया है, जबकि समीना अभी फरार बताई जा रही है। दरअसल रविवार को अचानक से पुलिस को सूचना मिली थी कि हलाला और ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं की लड़ाई लड़ने वाली समीना खान पर एसिड से अटैक किया गया है। जिसके बाद आनन-फानन में मौके पर पहुंचकर पुलिस ने उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

यह भी पढ़ें-कान में लीड लगाकर ऑटो में बैठी युवती से युवक ने कहा कुछ ऐसा तो युवती ने दिखा दिया अपना ये रूप

पुलिस इस घटना को शुरुआत से ही संदिग्ध मानकर चल रही थी, लेकिन फिर भी उसने समीना को हॉस्पिटल में एडमिट कराया। आपको बात दे कि दिल्ली निवासी डॉ समीना तीन तलाक और हलाला के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके सुर्खियों में आ गई थी और वह तीन तलाक और हलाला पीड़ितों की मददगार बन कर खुद को उनकी हमदर्द के तौर पर पेश कर रही थीं। समीना पीड़ित महिलाओं को एकजुट करने की मुहिम चलाने की बात करके बुलंदशहर से 17 अक्टूबर को दिल्ली तक पदयात्रा निकालने की भी तैयारी कर रही थी। लेकिन अचानक उस वक्त शहर में अफरा-तफरी का माहौल शहर में हो गया था। जब सूचना मिली की किसी ने समाजसेवी समीना पर तेजाब से अटैक किया है। इस मामले पर पुलिस ने गंभीरता दिखाई और अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करा दिया।

यह भी पढ़ेें-युवती की संदिग्ध अवस्था में मौत, ऑनर किलिंग की आशंका के चलते पुलिस ने दो को हिरासत में लिया

समीना ने पूछताछ में बताया था कि करीब 11 बजे जब वह आ रही थी। इसी दौरान बाइक सवार दो लोगों ने उन पर तेजाब डाल दिया था। कोतवाली पुलिस ने घटनास्थल का इस दौरान निरीक्षण किया तो वहां सीसीटीवी लगे हुए थे। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जो देखने में आया उसके मुताबिक एक वृद्ध व्यक्ति पहले आता हुआ दिखाई देता है और उसके बाद एक महिला वहां से आती दिखाई दे रही है। जिसने अपना चेहरा ढक रखा है और काला चश्मा भी लगा हुआ है। उसके बाद महिला अपने पर्स में हाथ डालते हुए आगे बढ़ती जा रही है और कुछ दूरी पर एक व्यक्ति भी नजर आ रहा है। महिला और वो युवक एक दूसरे से कुछ दूरी पर जाकर खड़े हो जाते हैं। करीब 11:04 पर महिला स्कूल की बंद गली में घुस जाती है 4 से 5 सेकंड बाद ही वो व्यक्ति अस्पताल वाली सड़क की तरफ निकल जाता है । इसके बाद समीना शहर की तरफ चली जाती है। शुरू से ही पुलिस इस मामले को संदिग्ध मानकर चल रही थी और अब इस पर पुलिस का बयान भी सामने आ गया है।

यह भी पढ़ें-ESI अस्पताल में भिड़े डॉक्टर्स और मरीज, प्रेगनेंट महिला की बिगड़ी तबीयत, पड़े लेने के देने

पुलिस अधीक्षक नगर डॉ प्रवीण रंजन सिंह ने बताया कि इस मामले की गहनता से जांच की गई तो यह मामला संदिग्ध लगा और इसमें जब सीसीटीवी फुटेज का संज्ञान लिया गया तो 2 लोग पकड़े हैं, जिनसे पूछताछ की गई है। साथ ही मामला लगभग खुल गया है। यह मामला फर्जी था और जल्द ही इसमें जो भी उचित कार्रवाई होगी वह की जाएगी। फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले को फर्जी बता रही है। वहीं तीन तलाक के खिलाफ याचिका दायर करने वाली डॉक्टर समीना जिन लोगों की लड़ाई लड़ रही थी।

यह भी पढ़ें-हाइवे पर बाइक सवार बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम, लोगों में दहशत, पुलिस में मचा हड़कंप

अब उनके लिए भी दिक्कत हो सकती है, क्योंकि समीना कई ऐसे केस लड़ रही थी, जिनमें तेजाब पीड़िता भी शामिल हैं। अब पुलिस इस बात पर भी गौर कर रही है कि जब कहीं तेजाब का केस हुआ तो समीना की लोकेशन कहां थी। फिलहाल अब यह मामला दूसरी तरफ मुड़ गया है। एक ओर जहां समीना प्रशासन से अपनी सुरक्षा की गुहार लगा चुकी थी। वहीं अपने ऊपर एसिड अटैक की खबर के बाद अब उसकी दिक्कतें बढ़ सकती हैं। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि तथ्यों के आधार पर जांच की जा रही है और इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned