केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा ने राहुल गांधी के लिए अमर्यादित शब्द का किया इस्तेमाल

केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा ने राहुल गांधी के लिए अमर्यादित शब्द का किया इस्तेमाल

Iftekhar Ahmed | Publish: Sep, 02 2018 09:05:09 PM (IST) Bulandshahr, Uttar Pradesh, India

केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा के बिगड़े बोल, राहुल की इससे कर दी तुलना

बुलंदशहर. लोकसभा चुनाक 2019 की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, वैसे-वैसे नेताओं की जुबानी जंग भी तेज होती जा रही है। इस कड़ी में भाजपा के नेता और मंत्री सबसे आगे नजर आ रहे हैं। गौतमबुद्धनगर से भाजपा सांसद और केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा ने रविवार को अपने लोकसभा क्षेत्र सिकन्द्राबाद में कार्यलय का उद्धाटन किया। उन्होंने कार्यालय के उद्घाटन से पहले एक बड़ी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने न सिर्फ विपक्ष पर निशाना साधा, बल्कि एक-एककर विपक्ष के बड़े दिग्गजों को खरीखोटी सुनाने के साथ ही अखिलेश, मायावती और राहुल गांधी पर जमकर चुटकी ली।

यह भी पढ़ेंः टीवी डिबेट में मौलवी को थप्पड़ मारने वाली महिला ने अपनाया क्षत्रीय धर्म

गौतमबुद्धनगर लोकसभा क्षेत्र से सांसद और केंद्र सरकार में के संस्कृति, पर्यटन और पर्यावरण राज्य मन्त्री (स्वतन्त्र प्रभार) डॉक्टर महेश ने टिकट वितरण से पहले ही अपने आप को भाजपा का उम्मीदवार घोषित करते हुए चुनावी तैयारी भी तेज कर दी है। इसी सिलसिले में उन्होंने अपने लोकसभा क्षेत्र के सिकन्द्राबाद में रविवार को कार्यलय का उद्घाटन किया। अपने कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए उन्होंने इससे पहले एक बड़ी जनसभा को संबोधित भी किया, जिसमें महेश शर्मा ने विपक्ष के नेताओं पर जमकर निशाना साधा। मंत्री महेश शर्मा ने महागठबंधन को महज मौका परस्ती का गठबंधन करार दिया और राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए कहा कि पप्पू भईया को लेकर विपक्ष आपके शेर नरेंद्र मोदी को हराने चला है। महेश शर्मा ने कहा सारे चोर एक होकर शेर को हराने चले हैं।

यह भी पढ़ें- सपा नेता आजम खान की बढ़ी मुश्किलें, एसआईटी ने कसा शिकंजा

अपनी बात को कहने के लिए उन्होंने मुहावरे का इस्तेमाल करते हुए एक बार फिर विपक्ष को गीदड़ की उपाधि दे डाली। वहीं, महेश शर्मा ने मायावती को लखनऊ गेस्ट हाउस कांड भी याद दिला डाला। महेश शर्मा ने कहा कि मायावती भूल चुकी हैं कि सपाई ने उनके साथ क्या किया था। इसके अलावा महेश शर्मा ने रालोद नेता अजीत सिंह पर भी निशाना साधते हुए कहा किउन्हें सत्ता की ललक है, जिसके लिए वह कभी भी दल बदल लेते हैं। महेश शर्मा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का भाजपा दिल से सम्मान करती है। उनके चरणों मे हम नमन करते हैं, क्योंकि चौधरी चरण सिंह असली किसान नेता थे, लेकिन अजीत सिंह दलबदलू नेता हैं। वह कभी भी दल बदल लेते हैं। इतना ही नहीं अपने भाषण के दौरान महेश शर्मा ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को भी नहीं बख्शा। उन्होंने कहा कि चाचा भी साथ छोड़ चुके हैं, प्रधानमंत्री के लिए विपक्ष के लिए कोई चहरा नहीं है। ऐसे में ख्वाब देख रहे हैं मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री बनने का।

Ad Block is Banned